प्रमुख सरकारी योजनाएँ

क्या है राजस्थान भामाशाह योजना राजस्थान की प्रमुख सरकारी योजनाएं

भामाशाह कार्ड योजना

महिलाएं बनीं परिवार की मुखिया

राजस्थान सरकार ने महिला सशक्तिकरण और सरकारी योजनाओं का लाभ सीधे और पारदर्शी तरीके से पहुंचाने के लिए 15 अगस्त 2014 से भामाशाह योजना की शुरूआत की। योजना में महिला को परिवार की मुखिया बनाकर परिवार के बैंक खाते उनके नाम पर खोले गये हैं। परिवार को मिलने वाले सभी सरकारी नकद लाभ सरकार सीधा इसी खाते में दे रही है। राजस्थान देश का पहला राज्य है जहां यह हुआ है।

  • योजना नाम: भामाशाह योजना
  • राज्य जो इस योजना को लॉन्च करता है: राजस्थान सरकार
  • इस योजना को किसने शुरू किया: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के मुख्यमंत्री
  • जिस तारीख में योजना शुरू की गई: अगस्त 2014
  • आधिकारिक वेबसाइट: http://www.bhamashah.rajasthan.gov.in

भामाशाह योजना उद्देश्य

  • महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना ।
  • राज्य में पूरी तरह से वित्तीय समावेशन करना ।
  • राज्य के सभी निवासियों के लिए नकद और गैर – नकद लाभ उपलब्ध कराना ।
  • राज्य में बहुउद्देश्यीय पहचान पत्र उपलब्ध कराना । 

भामाशाह योजना पात्रता

  • राज्य के हर परिवार इस योजना के लिए पात्र है ।
  • परिवार में एक महिला का भामाशाह कार्ड के माध्यम से बैंक में खाता होना चाहिए ।
  • बैंक खाते में राशि का अधिकार केवल महिला के पास ही होगा । 

भामाशाह कार्ड योजना लाभ

  • महिला सशक्तिकरण और आत्मनिर्भरता को बढ़ावा दिया जाएगा ।
  • सभी श्रेणियों के लिए वित्तीय समावेशन ।
  • लाभार्थी के बैंक खाते में नकद का सीधा हस्तांतरण ।
  • घर के पास बैंकिंग सेवाएं ।
  • पूरी पारदर्शिता के साथ और बिना किसी देरी के घर पर नकद और गैर- नकद लाभ ।
  • परिवार के सदस्यों की सही पहचान की स्थापना ।
  • सामाजिक सुरक्षा पेंशन, छात्रवृति योजना,  NREGA भुगतान के रूप में योजनाओं का लाभ ।

भामाशाह योजना के लिए  दस्तावेज

  1. मतदाता पहचान पत्र
  2. आधार कार्ड
  3. राशन पत्रिका
  4. पैन कार्ड
  5. पानी के बिल, बिजली बिल, टेलीफोन बिल
  6. आवेदक का पासपोर्ट आकार का फोटो
  7. बैंक खाता विवरण

लाभार्थी को लेन-देन की सूचना की व्यवस्था

लाभार्थी के खाते में पैसे आने व पैसे निकलवाने संबंधी हर लेन-देन की सूचना उसे अपने मोबाइल पर SMS से मिल जाती है। इसके अतिरिक्त वर्ष में 2 बार भामाशाह द्वारा वितरित लाभों का सामाजिक ऑडिट किया जाता है। लाभार्थी स्वयं द्वारा लिए गए लाभों का विवरण भी सूचना का अधिकार एवं भामाशाह मोबाइल ऐप के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

 भ्रष्टाचार और परेशानी से मिला छुटकारा

लाभार्थी का समय पर उपलब्ध न मिलना, कैश लाभ लाभार्थी तक नहीं पहुंचाना, किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा साइन करके लाभ लेना आदि कारणों से सरकारी योजनाओं के लाभ जैसे-पेंशन, छात्रवृत्ति, नरेगा राशि इत्यादि पात्र व्यक्तियों को नहीं मिल पाते थे, जिससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था।

 भामाशाह योजना से सरकारी योजनाओं का पूरा नकद लाभ बिना देरी और बिना परेशानी के सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में पहुंचाया जा रहा है। इसके साथ ही गैर नकद लाभ जैसे-राशन वितरण भी अब बायोमैट्रिक पहचान द्वारा सीधे पात्र व्यक्तियों को दिए जा रहे हैं।

सरकार की वर्तमान योजनाओं के साथ-साथ भविष्य में आने वाली योजनाओं को भी भामाशाह योजना से जोड़ा जायेगा। ताकि आमजन को उन योजनाओं का लाभ सीधे व बिना किसी देरी के मिल सके।

इनके अतिरिक्त नामांकित सभी बीपीएल, स्टेट बीपीएल, अन्त्योदय व अन्नपूर्णा में चयनित परिवारों की महिला मुखिया के बैंक खाते में सहायता राशि के रुप में एक बार 2000 रुपये एकमुश्त जमा करवाए जाते हैं।

राशि सीधा बैंक खाते में पहुंचाने की व्यवस्था

भामाशाह में नामांकन के समय परिवार व उसके सभी सदस्यों की पूरी जानकारी भामाशाह से जोड़ी जाती है। वे सभी सरकारी योजनाएं जिनका परिवार का कोई भी सदस्य हकदार है, उनकी जानकारी (जैसे- पेंशन नम्बर, नरेगा जॉब कार्ड नम्बर आदि) भी भामाशाह से जोड़ दी जाती है। लाभार्थियों का बैंक खाता भी भामाशाह से जोड़ा जाता है, जिससे सरकारी योजनाओं का लाभ (पेंशन, नरेगा, छात्रवृत्ति, जननी सुरक्षा आदि) तय तिथि पर सीधे उनके बैंक खातों में पहुंचा दिया जाता है।

भामाशाह योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्टर

  • आवेदक भामाशाह योजना का ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड के द्वारा आवेदन कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन नामांकन के लिए भामाशाह योजना के ऑनलाइन पोर्टल पर जाएँ । 
DsGuruJi Homepage Click Here
DSGuruJi - PDF Books Notes

Leave a Comment