Advertisements

उदयपुर जिला {Udaipur District} राजस्थान GK अध्ययन नोट्स

1. महत्वपूर्ण तथ्य

  • उदयपुर जिले का कुल क्षेत्रफल = 17,279 किमी²
  • उदयपुर जिले की जनसंख्या (2011) = 30,67,549
  • उदयपुर जिले का संभागीय मुख्यालय = उदयपुर
  • उदयपुर को झीलों की नगरी के नाम से भी जाना जाता है।

2. भौगोलिक स्थिति

  • भौगोलिक स्थिति: 24.58°N 73.68°E
  • उदयपुर शहर, दक्षिणी राजस्थान राज्य, पश्चिमोत्तर भारत में, अरावली पर्वतश्रेणी पर स्थित है।
  • नगर समुद्रतल से लगभग दो हज़ार फुट ऊँची पहाड़ी पर प्रतिष्ठित है एवं जंगलों द्वारा घिरा है। प्राचीन नगर प्राचीर द्वारा आबद्ध है जिसके चतुर्दिक्‌ रक्षा के लिए खाई खुदी है।

 

3. इतिहास

  • महाराणा उदयसिंह ने सन् 1559 ई. में उदयपुर नगर की स्थापना की। लगातार मुग़लों के आक्रमणों से सुरक्षित स्थान पर राजधानी स्थानान्तरित किये जाने की योजना से इस नगर की स्थापना हुई।
  • 8वीं से 16वीं सदी तक बप्पा रावल के वंशजो ने अजेय शासन किया और तभी से यह राज्य मेवाड के नाम से जाना जाता है।
  • प्रमुख शासक महाराणा प्रताप (1572-92) थे जिन्होने अकबर की अधीनता नहीं स्वीकार की और राजसी ठाठ के बिना राज्य किया।

4. कला एवं संस्कृति

  • यहाँ मेवाड़ अंचल की एक अलग ही आभा है
  • आहड़ या धूलकोट यहाँ का एक प्रमुख पुरातत्व स्थान हैं

5. शिक्षा

  • IIM उदयपुर एक प्रमुख संस्थान हैं
  • MPUAT एवं सुखाड़िया दो प्रमुख विश्वविद्यालय है
  • प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा हेतु सरकारी, स्कूल एवं निजी क्षेत्र की कई अच्छी स्कूल हैं

6. खनिज एवं कृषि

  • उदयपुर कृषि के साथ खनिज संसाधनों में समृद्ध क्षेत्र है|
  • उदयपुर में ग्रेनाइट और संगमरमर का खनन किया जाता है।
  • उदयपुर नगर एक हस्तशिल्प का केंद्र है

7. प्रमुख स्थल

  • फतेहसागर : महाराणा जय सिंह द्वारा निर्मित यह झील बाढ़ के कारण नष्ट हो गई थी, बाद में महाराणा फतेह सिंह ने इसका पुनर्निर्माण करवाया। झील के बीचों-बीच नेहरू गार्डन हैं
  • मोती मगरी पर प्रसिद्ध राजपूत राजा महाराणा प्रताप की मूर्ति है। मोती मगरी फतेहसागर के पास की पहाड़ी पर स्थित है।
  • सहेलियों की बाड़ी / दासियों के सम्मान में बना बाग एक सजा-धजा बाग है। इसमें, कमल के तालाब, फव्वारे, संगमरमर के हाथी और कियोस्क बने हुए हैं।
  • पिछोला झील: महाराणा उदय सिंह द्वितीय ने इस शहर की खोज के बाद इस झील का विस्तार कराया था। झील में दो द्वीप हैं और दोनों पर महल बने हुए हैं।
  • सिटी पैलेस एक प्रसिद्ध और शानदार महल हैं। यह राजस्थान का सबसे बड़ा महल है। इस महल का निर्माण शहर के संस्थापक महाराणा उदय सिंह-द्वितीय ने करवाया था।
  • शिल्पग्राम, उदयपुर एक प्रतिवर्ष होने वाला शिल्प एवं संस्कृति मैला है। यहां गोवा, गुजरात राजस्थान और महाराष्ट्र राज्यों के शास्त्रीय संगीत और नृत्य भी प्रदर्शित किए जाते हैं
  • सज्‍जनगढ़ उदयपुर शहर के दक्षिण में अरावली पर्वतमाला के एक पहाढ़ की चोटी पर इस महल का निर्माण महाराजा सज्जन सिंह ने करवाया था। सज्‍जनगढ़ से उदयपुर शहर और इसकी झीलों का सुंदर नज़ारा दिखता है। पहाड़ की तलहटी में अभयारण्‍य है।

8. नदी एवं झीलें

  • फतेहसागर, पिछोला, स्वरूपसागर, दूध तलाई यहाँ की प्रमुख झीलें हैं
  • उदयपुर की प्रमुख नदियों में जाखम, साबरमती, सोम, बेडच और बनास है।

9. परिवहन और यातायात

  • उदयपुर का रेलवे स्‍टेशन देश अजमेर, अहमदाबाद एवं अन्‍य शहरों से जुड़ा हुआ है।
  • उदयपुर शहर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 8 पर स्थित है। यह सड़क मार्ग जोधपुर से 276 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व, जयपुर से 396 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम तथा दिल्ली से 652 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में स्थित है।
  • उदयपुर का सबसे नज़दीकी हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है। यह हवाई अड्डा डबौक में है। जयपुर, जोधपुर, दिल्ली तथा मुंबई से यहाँ नियमित उड़ाने उपलब्‍ध हैं।

10. उद्योग और व्यापार

  • उदयपुर में चूना-पत्थर, ग्रेनाइट और संगमरमर का खनन किया जाता है।
  • उदयपुर नगर एक कृषि बाज़ार और हस्तशिल्प-धातुकर्म का केंद्र है, जो चाक़ू, कटार व तलवार के निर्माण के लिए विख्यात है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!