GK in Hindi

RAJASTHAN GK: General Knowledge Previous Year Papers

101. बिजूका है-

(a) फसल पकने के बाद उसे किसान द्वारा काटने की क्रिया
(b) गाँवों में सण, सूत या ऊन की डोरी बनाने का लकड़ी का बना उपकरण
(c) ग्रामीण क्षेत्रों में सब्जी एवं अन्य सामान खरीदने के बदले दिया जाने वाला अनाज
(d) खेतों में फसल को पशुओं एवं पक्षियों से बचाने हेतु घासफूस एवं लकड़ी के ढाँचे से बनी मानवाकृति

Ans: (d)

102. ‘चीड़ का पोमचा’ प्रचलित है-

(a) मेवाड़ क्षेत्र
(b) मारवाड़ क्षेत्र
(c) हाड़ौती क्षेत्र
(d) डांग क्षेत्र

Ans: (c)

103. ‘आलमजी का धोरा’ स्थित है-

(a) जैसलमेर में
(b) सिरोही में
(c) बाड़मेर में
(d) जोधपुर में

Ans: (c)

104. ‘बँधेज’ के प्रमुख केन्द्र हैं-

(a) जोधपुर-जयपुर
(b) चुरू-झुंझुनूँ
(c) नागौर-अजमेर
(d) अलवर-शेखावटी

Ans:(a)

105. ‘टेरीकॉट खादी’ का प्रमुख केन्द्र है-

(a) कोटा
(b) जयपुर
(c) पोखरण, जैसलमेर
(d) मांगरोल, बाराँ

Ans: (d)

106. निम्न को सुमेलित करें- चित्र शैली आँखों की आकृति
(अ) बीकानेर

(a) कमल शैली कोशवत/ मृगनयनी
(ब) किशनगढ़ (b) खंजनाकृति शैली
(स) बूँदी शैली (c) कमल पत्राकृति/ आमपत्र के समान
(द) नाथद्वारा शैली (d) चकोर के समान

(a) (अ)-1, (ब)-2, (स)-3, (द)-4
(b) (अ)-2, (ब)-3, (स)-4, (द)-1
(c) (अ)-3, (ब)-4, (स)-1, (द)-2
(d) (अ)-4, (ब)-3, (स)-1, (द)-2

Ans:(a)

107. निम्न में असत्य कथन है-

(a) कोटा-झालावाड़ मार्ग पर आलनिया नदी के किनारे-किनारे विशाल चट्‌टानों की शृंखला में 50 हजार वर्ष पुराने शैलचित्र खोजे गए हैं
(b) हाड़ौती में शैलचित्र को खोजने का काम सर्वप्रथम वर्ष 1953 में पद्मश्री डॉं. विष्णु श्रीधर वाकणकर ने किया
(c) बूँदी से उत्तर की ओर दुगारी के महल में बने भित्ति चित्र दर्शनीय हैं
(d) सवाई प्रतापसिंह का काल मेवाड़ चित्र शैली का स्वर्णकाल माना जाता है

Ans: (d)

Table of Contents

अध्याय 7. प्रथाएँ, रीति-रिवाज, पहनावा एवं आभूषण

निम्न में असत्य कथन है-

(a) कलीला दमना पंचतंत्र का अनुवाद है
(b) मेवाड़ शैली में बिहारी सतसई के चित्र प्रमुख चित्रकार जगन्नाथ के निर्देशन में बने
(c) मेवाड़ चित्र शैली में ‘सूरसागर’ का सर्वप्रथम चित्रांकन महाराणा संग्रामसिंह (द्वितीय) के निर्देशन में हुआ
(d) बँूदी नरेश भावसिंह के राज कवि मतिराम रचित ‘रसराज’, नायिका भेद का एक महत्त्वपूर्ण रीतिकालीन ग्रंथ है

Ans: (c)

2. ‘कलीला दमना’ पर आधारित चित्रों के प्रमुख चित्रकार थे-

(a) केशवदास
(b) साहिबदीन
(c) नुरूद्दीन
(d) डालचंद

Ans: (c)

3. राजस्थान में किस वर्ष में समाधि प्रथा को जयपुर रियासत ने गैर कानूनी घोषित किया?

(a) 1842
(b) 1844
(c) 1940
(d) 1834

Ans: (b))

4. राजस्थान में ‘सुरलिया’ आभूषण पहना जाता है?

(a) नाक में
(b) गले में
(c) सिर पर
(d) बाजू पर

Ans: (b))

5. वधू पक्ष वालों द्वारा बारात की अगवानी करना क्या कहलाता है?

(a) जौणार
(b) घुड़चढ़ी
(c) सामेला
(d) मांगर

Ans: (c)

6. राजदरबार में पंक्तिबद्ध तरीके से बैठने की रीति को कहा जाता था –

(a) मिसल
(b) कुरब
(c) पाशीब
(d) नाजर

Ans:(a)

7. आदिवासी लोगों में प्रचलित लीला-मेरिया संस्कार का संबंध है –

(a) जन्म से
(b) विवाह से
(c) मृत्यु से
(d) मृत्युभोज से राज

Ans: (b))

8. राजस्थान की संस्कृति में किसे विशिष्ट स्थान दिया गया है?

(a) नैतिकता
(b) शारीरिक सौष्ठव
(c) मनोरंजन
(d) अतिथि सत्कार

Ans: (d)

9. राजस्थान के किस समाज में विवाह के उपरान्त स्त्री की जाति मायके के अनुरूप ही रहती है अर्थात्‌ उसमें कोई परिवर्तन नहीं होता?

(a) राजपूत
(b) मीणा
(c) ब्राह्मण
(d) साँसी

Ans: (d)

10. राज्य की सेना द्वारा किसी गाँव के पास पड़ाव डालने पर उसके भोजन के लिए गाँव के लोगों से वसूल की जाने वाली लाग थी –

(a) पावणा पावरा लाग
(b) रूखवाली भाछ
(c) चँवरी लाग
(d) खिचड़ी लाग

Ans: (d)

11. भीलों द्वारा सिर पर पहनी जाने वाली पगड़ी कहलाती है –

(a) सोहरी
(b) टोंटी
(c) चोगा
(d) पोत्या

Ans: (d)

12. ‘गोरबन्द’ आभूषण है –

(a) पश्चिमी राजस्थानी महिलाओं द्वारा गले में पहनने का
(b) ऊँट के गले का
(c) राजस्थानी महिलाओं के सिर पर पहनने का
(d) राजस्थानी महिलाओं द्वारा हाथ में पहनने का

Ans: (b))

13. राजस्थान में किस रियासत में सती प्रथा को सर्वप्रथम गैर-कानूनी घोषित किया गया?

(a) जयपुर
(b) बूँदी
(c) कोटा
(d) बीकानेर

Ans: (b))

14. मेमंद है –

(a) नाक का आभूषण
(b) पुरुषों का अंगवस्त्र
(c) भीलों की चूनड़
(d) सिर का आभूषण

Ans: (d)

15. आभूषण एवं शरीर के अंग का कौन-सा युग्म सही सुमेलित नहीं है?

(a) हालरो -गला
(b) गोखरू -कलाई
(c) रखन – बाजू
(d) नेगरी -कमर

Ans: (c)

16. ‘सागड़ी प्रथा’ का अन्य नाम है-

(a) वेश्यावृत्ति
(b) देवदासी प्रथा
(c) जौहर प्रथा
(d) बंधुआ मजदूर प्रथा

Ans: (d)

17. डाकन प्रथा को सर्वप्रथम गैर-कानूनी घोषित किया गया –

(a) उदयपुर
(b) जोधपुर
(c) चित्तौड़गढ़
(d) बाँसवाड़ा

Ans:(a)

18. बारात विदा करते समय वधू द्वारा प्रत्येक बाराती तथा वर-वधू को यथाशक्ति धन एवं उपहारादि दिए जाते हैं । इसे कहते हैं –

(a) मुकलावा
(b) रंगबरी
(c) बिंदोली
(d) सामेला

Ans: (b))

19. सेना के अग्रभाग को कहा जाता था –

(a) हरावल
(b) मिसल
(c) पैदल सेना
(d) डाण

Ans:(a)

20. सामन्तों को प्राप्त विशेषाधिकार जिसमें किसी सामन्त के दरबार में आने एवं वापस जाने के समय महाराणा खड़ा होकर उन्हें सम्मान देता था, कहलाता था –

(a) कुरब
(b) ताजीम
(c) मिसल
(d) नाजर

Ans: (b))
DSGuruJi - PDF Books Notes

Leave a Comment