Most Repeat Rajasthan History GK.

SET NO 3

201‘पाथल व पीथल’ कविता के रचनाकारचूरू के कन्हैयालाल सेठिया
202हाड़ी रानी कहाँ की थीसलुम्बर (उदयपुर) के चुण्डावत सरदार की पत्नी
203चारुमतीकिशनगढ़ (अजमेर) की राजकुमारी थी जिसका विवाह औरंगजेब के साथ तय हो रखा था तथा राजसमन्द के राजा राजसिंह ने अपहरण कर विवाह किया
204पृथ्वीराज चौहान तृतीय के माता व पिता का नाममाता-कर्पूरी देवी / कमला देवी, पिता सोमेश्वर चौहान
205राठौड़ शब्द की उत्पत्ति किस शब्द से हुई हैराष्ट्र कूट
206रावसीहा किसका पड्पौत्र था ?कन्नौज के जयचंद गहड़वाल का
207‘पृथ्वीराज रासो’ को पूरा करने वालाचंदवरदाई का पुत्र जल्हण
208‘वंश भास्कर’ को पुरा करने वालासूर्यमल्ल मिश्रण का पुत्र मुरारीदान
209कवि बान्धवअजमेर के बीसलदेव (विग्रहराज चतुर्थ) की उपाधि
210‘ललित विग्रहराज’ ग्रन्थ के रचयितासोमदेव
211हमीर देव चौहान की पत्नी का नामरंगदेवी
212मड़ोर को मारवाड़ की राजधानी किस राठौड़ राजा ने बनायाराव चूंड़ा राठौड़
213राणा लाखा की वृद्धावस्था में विवाहजोधपुर की राजकुमारी हंसाबाई (राव चूंड़ा की पुत्री) के साथ
214हशमत वाला शासकफारखी इतिहासकारों ने जोधपुर के राजा मालदेव को कहा
2151570 का अकबर दरबारनागौर में लगा
216मारवाड़ का भूला बिसरा नायकराव चंद्रसेन
217मारवाड़ का प्रतापराव चंद्रसेन
218अबुल फजल कहाँ का थानागौर का
219अकबर के नवरत्न में शामिल राजस्थानीभगवंत दास (जयपुर), मानसिंह (जयपुर), अबुल फजल (नागौर)
220इन्द्रकुंवरीजोधपुर के राजा अजीतसिंह की पुत्री, जिसका विवाह मुग़ल बादशाह फर्रुखशियर से हुआ।
221दुर्गादास राठौड़ की छतरीउज्जैन में (मध्यप्रदेश)
222महाराणा प्रताप की छतरीचावण्ड के पास बाण्डोली गाँव में 8 खम्भों की छतरी (उदयपुर)
223जोधपुर के राजाओं की छतरियाँमण्डोर की छतरी
224जयपुर के राजाओं की छतरियाँगैटोर की छतरियाँ (नाहरगढ़, जयपुर)
225कोटा के राजाओं की छतरियाँक्षारबाग की छतरियाँ
226बूंदी के राजाओं की छतरियाँकेसरबाग की छतरियाँ
227उदयपुर के राजाओं की छतरियाँमहासतियाँ, आहड़ के पास गंगों गाँव (उदयपुर)
228जैसलमेर के राजाओं की छतरियाँबड़ा बाग़ की छतरियाँ
229बीकानेर के राजाओं की छतरियाँदेवकुण्ड की छतरियाँ
230जहाँगीर (सलीम) की माँआमेर की हरका बाई
231शाहजहाँ (खुर्रम) की माँजोधपुर की जगतगुंसाई
232खुसरों की माँजयपुर की मनभावनी/सुल्तान निस्सा
233उदयसिंह किसकी सहायता से चित्तोड़ का राजा बनाजोधपुर के राजा मालदेव की सहायता से
234रणमल की हत्या कहाँ हुईचित्तोडगढ़ में राणा कुम्भा के कहने पर
235शाहजहाँ के साले सलावत खां की हत्यानागौर के अमरसिंह राठौड़ ने की
236पहौबा का युद्ध1541 ई. में जोधपुर के राजा मालदेव ने बीकानेर के राजा राव जैतसी को हराया।
237‘राव जैतसी रो छन्द’ के रचयिताबिठू सूजा
238कच्छवाह वंश की राजधानी आमेर को किसने बनायाकोकिल देव ने, 1207 ई. में आमेर के मीणाओं को हराकर
239मानसिंह की ‘फर्जन्द’ की उपाधि किसने दीअकबर ने, फर्जन्द का अर्थ है पुत्र
240कुलपति मिश्र किसका दरबारी था ?यह बिहारी का भांजा था, जिसने 52 से अधिक ग्रंथों की रचना की तथा बिहारी की ही भांति मिर्जा राजा जयसिंह का दरबारी कवि
241ईसरलाटजिसे सरगासूली भी कहते है, 1747 ई. के राजमहल युद्ध (टोंक) में माधोसिंह की संयुक्त सेना को हराने के उपलक्ष पर जयपुर के महाराजा ईश्वरीसिंह द्वारा निर्मित
242हवामहल किसने बनवाया1799 ई. में सवाई प्रतापसिंह ने, जिसकी पाँच मंजिले है – 1 शरद मंदिर, 2 रत्न मंदिर, 3 विचित्र मंदिर, 4 प्रकाश मंदिर, 5 हवा मंदिर। हवामहल के 953 झरोखें व 353 खिड़कियाँ है।
243जयपुर को गुलाबी रंग से किसने रंगवायासवाई रामसिंह द्वितीय ने (1835-1880 के दौरान)
244सबसे बड़ा चाँदी का पात्रजयपुर के सिटी पैलेस (चन्द्रमहल) में
245सबसे बड़ी पगड़ीबागोर की हवेली (उदयपुर) में
246एक जैसे 9 महलनाहरगढ़ दुर्ग (जयपुर) में, माधोसिंह ने अपनी 9 पासवानों के लिए बनवाए
247सवाई जयसिंह का वास्तविक नामविजयसिंह
248सिवाणा का युद्ध1307-08, अलाउद्दीन खिलजी ने शीतलदेव को हराकर सिवाणा दुर्ग का नाम खैराबाद रख दिया
249जालौर का युद्ध1311-12, अलाउद्दीन खिलजी ने कान्हाडदे सोनगरा को हराकर जालौर का नाम जलालाबाद रख दिया।
250खातौली का युद्ध1517 ई. में., बूंदी में राणा सांगा ने इब्राहीम लोदी को हराया।
251गागरोन (झालावाड़) का युद्ध1519 ई. में, राणा सांगा ने महमूद खिलजी द्वितीय को हराया।
252‘राज विनोद’ के रचयितासदाशिव भट्ट, (16 वीं सदी के सामाजिक स्वरूप के बारे में)
253‘राज वल्लभ’ के रचयितामंडन मिश्र (15 वीं सदी की स्थापत्य कला के बारे में)
254चंवरी कर कब व किसने1903 ई. में कन्या के विवाह पर वधू पक्ष पर बिजोलिया के ठाकुर कृष्णसिंह ने 5 रु का चंवरी कर लगाया।
255‘उपरमाल पंचबोर्ड’ का गठन1917 ई. में विजयसिंह पथिक ने, मन्ना पटेल इसके पहले सरपंच थे।
256बेगू (चित्तोडगढ़) किसान आन्दोलन1921 ई. में रामनारायण चौधरी के नेतृत्व में प्रारंभ, मेनाल (भीलवाड़ा) नामक स्थान से
257सर्वप्रथम कन्या वध पर प्रतिबंध1834 ई. कोटा में
258सर्वप्रथम सती प्रथा पर प्रतिबंध1822 ई. में बूंदी में
259सर्वप्रथम डांकन प्रथा पर प्रतिबंध1853 ई. उदयपुर में
260सर्वप्रथम मानव व्यापर पर प्रतिबंध1847 ई. जयपुर में
261बीकानेर प्रजामंडल की स्थापना1936 ई. में मघाराम वैध ने कलकत्ता में की
262राजस्थान सेवा संघ की स्थापना1919 ई. में वर्धा (महाराष्ट्र) में, विजयसिंह पथिक, केसरी बारहठ व अर्जुन लाल सेठी ने। 1920 ई. में इसका मुख्यालय अजमेर में हो गया।
263सवाई जयसिंह द्वारा निर्मित वैधशाला (जंतर-मंतर)5 जगह दिल्ली, जयपुर, मथुरा, काशी, उज्जैन
264‘दा साहब’अजमेर के हरिभाऊ उपाध्याय को
265हिन्दी को ‘ईमान की भाषा’जमनालाल बजाज ने कहा
266‘वाट आर द इण्डियन स्टेट्स’विजयसिंह पथिक द्वारा रचित पुस्तक
267पीपजयनारायण व्यास द्वारा निकाला गया अंग्रेजी भाषा का समाचार पत्र
268आगीबाणजयनारायण व्यास द्वारा निकाला गया राजस्थानी भाषा का समाचार पत्र
269चेतावनी रा चुंगट्याकेसरीसिंह बारहठ ने 13 सोरठे उदयपुर के राजा फतेहसिंह को 1903 में दिल्ली में लार्ड कर्जन द्वारा एडवर्ड-7 के सम्राट बनाने की ख़ुशी में आयोजित दिल्ली दरबार में जाने से रोकने हेतु लिखे। जिन्हें‘चेतावनी रा चुंगट्या’के नाम से जाना गया।
270जैन वर्धमान विद्यालयजयपुर में, अर्जुनलाल सेठी द्वारा स्थापित
271पत्रकारिता के भीष्म पितामहपं. झाबरमल शर्मा
2721 नवम्बर 1956 के पूर्व अजमेर के मुख्यमंत्रीहरिभाऊ उपाध्याय (दा साहब)
273ब्यावर में सनातन धर्म स्कूल व वर्धा नवभारत विद्यालय की स्थापनासेठ दामोदर दास राठी ने
274तरुण राजस्थान का पूर्व नामनवीन राजस्थान, 1921, अजमेर से प्रकाशित
275‘जेंटलमैन एग्रीमेंट’1942 ई. में जयपुर प्रजामंडल के अध्यक्ष हीरालाल शास्त्री व जयपुर के प्रधान सर मिर्जा इस्माइल के बीच हुआ समझौता
276गुलाम नं. 4जमनालाल बजाज स्वयं को कहते थे। पहला गुलाम-भारतदेश, दूसरा गुलाम – देशी राजा, तीसरा गुलाम – सीकर राज्य
277‘प्रलय प्रतीक्षों नमो नम:’हीरालाल शास्त्री जी का प्रसिद्ध लोकगीत
278अजमेर का राजस्थान में विलय1 नवम्बर 1956 को
279प्रथम मुख्यमंत्रीहीरालाल शास्त्री (30 मार्च 1949 को)
280प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्रीटीकाराम पालीवाल (3 मार्च 1952 को)
281प्रथम राज्यपालगुरुमुख निहालसिंह (1 नवम्बर 1956 को)
282प्रथम मुख्यन्यायाधीशकमलकांत वर्मा (29 अगस्त 1949 को)
283प्रथम विधानसभा अध्यक्षनरोत्तम लाल जोशी (31 मार्च 1952 को)
284प्रथम विधानसभा उपाध्यक्षलालसिंह शक्तावत (31 मार्च 1952 को)
285प्रथम मुख्य सचिवके. राधाकृष्णन (13 अप्रैल 1949 को)
286प्रथम पुलिस महानिदेशकरघुनाथ सिंह (20 जनवरी 1983) इससे पहले राज्य स्तर पर पुलिस के मुखिया पुलिस महानिरीक्षक कहलाते थे। राजस्थान के प्रथम पुलिस महानिरीक्षक आर. बनर्जी (7 अप्रैल 1949) थे।
287एकीकरण के सातों चरणों की तिथियाँप्रथम – 18 मार्च 1948 (मत्स्य संघ)

द्वितीय – 25 मार्च 1948 (पूर्व राजस्थान)

तृतीय – 18 अप्रैल 1948 (संयुक्त राजस्थान)

चतुर्थ – 30 मार्च 1949 (वृहद राजस्थान)

पंचम – 15 मई 1949 (संयुक्त वृहद राजस्थान)

षष्ठम – 26 जनवरी 1950 (राजस्थान संघ)

सप्तम – 1 नवम्बर 1956 (राजस्थान)

288मत्स्य संघ व पूर्व राजस्थान के उद्घाटनकर्ताN.V.गाडगिल, वृहद राजस्थान के उद्घाटनकर्ता सरदार वल्लभ भाई पटेल थे।
289शांताबाई शिक्षा कुटीर1935 ई. में हीरालाल शास्त्री व उनकी पत्नी रतन शास्त्री द्वारा स्थापित, वर्तमान नाम – वनस्थली विद्यापीठ
290आलमशाही सिक्केमहाराजा सालिमसिंह (प्रतापगढ़)द्वारा चलाये गये।
291मत्स्य संघ नाम किसने दिया ?के.एम. मुंशी ने
292राज्य पुनर्गठन आयोग के अध्यक्षडॉ. फजल अली
293राज्य पुनर्गठन आयोग के सचिववी.पी. मेनन
294जलियाँवाला बाग हत्याकाण्ड के विरोध में किसने अपनी ‘राय बहादुर’ की उपाधि लौटा दीजमनालाल बजाज ने
295रियासते, ठिकाने, केन्द्रशासित प्रदेशराजस्थान में, देश आजाद होने के पश्चात् 19 देशी रियासते, 3 ठिकाने/चीफशिफ़/खुदमुख्तियार (लावा (जयपुर), कुशलगढ़ (बाँसवाड़ा), नीमराणा (अलवर) तथा 1 केन्द्रशासित प्रदेश (अजमेर-मेरवाड़ा) था।
296किस राजघराने ने प्रजामंडल को संरक्षण दियाजयपुर ने
297जैसलमेर प्रजामंडल1945 ई. में मीठालाल व्यास ने जोधपुर में स्थापना की।
298मेवाड़ प्रजामंडल के प्रथम अधिवेशन का उद्घाटनकर्ता25-26 नवम्बर 1941 को आचार्य कृपलानी
299राजस्थान का जलियाँवाला बाग़ हत्याकाण्डनिमूचाणा काण्ड अलवर (14 मई 1925)
 

300

बेंगू के किसानों की जाँच के लिए गठित आयोगट्रेंच आयोग
DsGuruJi HomepageClick Here