Most Repeat Rajasthan Geography GK.

SET NO 4

301सिरोही में टेढ़ी-मेढ़ी पहाड़ियाँ क्या कहलाती है ?भाखर
302देशहरोउदयपुर में रागा व जरगा पहाड़ी के बीच का क्षेत्र हमेशा हरा-भरा रहने के कारण देशहरो कहलाता है।
303गिरवाउदयपुर के पास तश्तरीनुमा पहाड़ी को
304भभूल्याछोटे वायु चक्रवात
305पुरवाईयाँबंगाल की खाड़ी से आने वाली मानसूनी पवने
306घाटी में बसा नगरअजमेर
307फाउण्टेन व माउण्टेन सिटीउदयपुर
308उदयपुर जिले में जयसमंद से आगे पूर्व दिशा में कटा फटा पठारलसाड़िया का पठार
309अक्षांश व देशांतर रेखाओं के हिसाब से राजस्थान की स्थिति23°3’ से 30°12’ उत्तरी अक्षांश तथा 69°30’ से 78°17’ पूर्वी देशांतर के बीच
310सेला बासमती चावलबूंदी
311कनकसागर पक्षी आखेट निषिद्ध क्षेत्रबूंदी
312आम-पापड़ कहाँ पर प्रसिद्धबाँसवाड़ा
313अतिआर्द्र जलवायु प्रदेश में दो जिलेझालावाड़, बाँसवाड़ा
314चिकु उत्पादन में प्रथमसिरोही
315मैगनीज उत्पादन में प्रथमबाँसवाड़ा
316माल्टा उत्पादन में प्रथमगंगानगर
317केले उत्पादन में प्रथमबाँसवाड़ा
318खेल के सामानों के लिए प्रसिद्ध जिलाहनुमानगढ़
319सर्वाधिक नाप-तौल के यंत्रकोटा
320मेवात प्रदेशअलवर
321गेबसागर झीलडूंगरपुर
322गुरु द्रोणाचार्य का निवासद्रोणपुर, छापर (चूरू)
323मानसी-वाकल नदी किस अभ्यारण्य मेंफुलवारी की नाल, उदयपुर
324गोड़ावण के कृत्रिम प्रजनन हेतु जन्तुआलयजोधपुर जन्तुआलय
325सबसे प्राचीन जन्तुआलयजयपुर जन्तुआलय (1876 ई.) सवाई रामसिंह द्वारा
326सबसे नवीन जन्तुआलयकोटा जन्तुआलय (1954 ई.)
327जीरा मण्डीजोधपुर
328प्याज मण्डीअलवर
329आँवला मण्डीचौमु (जयपुर)
330फूल मण्डीपुष्कर (अजमेर)
331सब्जी मण्डीसांगानेर (जयपुर)
332मेहन्दी मण्डीसोजत (पाली)
333लहसुन मण्डीछीपा बड़ौद (बारां)
334ईसबगोल मण्डीभीनमाल (जालौर)
335राजस्थान में वृक्षों हेतु पहला बलिदान1604 ई. रामासनी गाँव (जोधपुर) में करमां व गौरा का बलिदान
336काष्ठ कला के लिए प्रसिद्ध गाँव ‘बस्सी’ कहाँ है ?चित्तोडगढ़
337जंगली मुर्गो के लिए प्रसिद्ध अभ्यारण्यमाउन्ट आबू अभ्यारण्य (सिरोही)
338नवीनतम पशुगणना19 वीं पशुगणना (2012)
339एशिया की सबसे बड़ी पक्षी प्रजनन स्थलीकेवलादेव घना पक्षी विहार (भरतपुर)
340किस अभ्यारण्य में ग्रेनईट, क्वार्ट्जाइट तथा सेंड स्टोन आदि चट्टानों की भरमार है ?भैंसरोड़गढ़ (चित्तोडगढ़)
341डॉल्फिन व घड़ियालों के संरक्षण के लिए प्रसिद्ध अभ्यारण्यचम्बल अभ्यारण्य (उत्तरप्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश)
342गोड़ावण की शरण स्थलीराष्ट्रिय मरू उद्यान (जैसलमेर-बाड़मेर)
343किस अभ्यारण्य से ओरई तथा ब्राह्मणी नदियों का उद्गम स्थानबस्सी अभ्यारण्य (चित्तोडगढ़)
344राष्ट्रिय मरू वानस्पतिक उद्यानमाचिया सफारी पार्क (जोधपुरी)
345वह पादप जो विश्व में एक मात्र आबू अभ्यारण्य में ही पाया जाता है।डिकल्पिटेरा आबू एन्सिस
346एंटीलोप प्रजाति के दुर्लभतम जीव चौसिंगासीतामाता वन्यजीव अभ्यारण्य (प्रतापगढ़)
347पीली किताब1947 ई. में अलवर के अंतिम राजा तेजसिंह द्वारा बनाई गई फारेस्ट सेटलमेण्ट रिपोर्ट
348सर्वाधिक जैव विविधता वाला अभ्यारण्यद मुकुंदरा हिल्स (दर्रा अभ्यारण्य), कोटा
349कांकणबाड़ी किलासरिस्का (अलवर)
350हिम पक्षियों का शीत-बसेराकेवलादेव घना पक्षी विहार (भरतपुर)
351टाइगर मेन ऑफ़ इण्डियाडॉ. कैलाश सांखला
35242 वें संविधान संसोधन द्वारा वन्य जीव विषय को किस सूची में रखा गया है ?समवर्ती (जयपुर)
353प्रथम जैविक उद्याननाहरगढ़ (जयपुर)
354प्रथम जैव उर्वरक का कारखानाभरतपुर
355इण्डिया इको डवलपमेंट परियोजनारणथम्भौर राष्ट्रिय उद्यान में वन्य जीवों के संरक्षण हेतु विश्व बैंक के सहयोग से चलाई गयी योजना
356झालावाड़ के पशु मेलेगोमती सागर पशु मेला (वैशाख पूर्णिमा), चंद्रभागा पशु मेला (कार्तिक पूर्णिमा) ये दोनों मेले एक ही स्थान पर चंद्रभागा मंदिर के पास विशाल मैदान पर आयोजित होते है।
357नागौर के पशु मेलेवीर तेजाजी पशु मेला (परबतसर, नागौर) बलदेव पशु मेला (मेड़ता सिटी नागौर), रामदेव पशु मेला (नागौर)
358आय की दृष्टि से सबसे बड़ा पशु मेलावीर तेजाजी पशु मेला (परबतसर, नागौर)
359भरतपुर में पशु मेलाजसवंत पशु मेला
360अलवर में पशु मेलाबहरोड़ पशु मेला
361बाड़मेर में पशु मेलामल्लीनाथ पशु मेला (तिलवाड़ा, बाड़मेर)
362माही सुगंधा चावलबाँसवाड़ा
363त्रिवेणी संगम चम्बल, बनास व सीप नदियों का संगम
364अन्तर्राज्यीय सीमा पर स्थित जिले23 जिले
365राजपुताना शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग1800 ई. में जोर्ज थोमसन ने
366राजस्थान शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग1829 ई. में कर्नल जैम्स टॉड ने अपने इतिहास ग्रन्थ ‘एनल्स एंड एण्टीक्वीटीज ऑफ़ राजस्थान’ में किया।
367राजस्थान शब्द कब अंगीकृत किया गया26 जनवरी 1950
368सर्वाधिक कुल साक्षरता वाला जिलाकोटा
369सर्वाधिक पुरुष साक्षरता वाला जिलाझुंझुनू
370सर्वाधिक महिला साक्षरता वाला जिलाकोटा
371जयपुर के कुल पड़ोसी जिले6, टोंक, अजमेर, नागौर, सीकर, अलवर व दौसा
372चाँद बावड़ीदौसा
373रामेश्वर घाटसवाई माधोपुर
374बिगोद (भीलवाड़ा) का त्रिवेणी संगमबनास, बेड़च व मेनाल नदियों का संगम
375बेणेश्वर (डूंगरपुर) में किन नदियों का संगमसोम, माही, जाखम
376राजमहल (टोंक) में त्रिवेणी संगमबनास, डाई व खारी
377बासड़ी-बोरोदा क्षेत्रदौसा, सोना-चाँदी के भण्डार मिले
378राजस्थान का पहला निजी नर्सिंग कॉलेजपिलानी (झुंझुनू)
379घग्घर नदी का प्राचीन नाम व पाकिस्तान में नामप्राचीन नाम – दृषद्वती/सरस्वती नदी व पाकिस्तान में हकरा
380नागौरी गहनाहथकड़ी को
381काठ का रैन बसेराझालरापाटन
382बर्ड राइडर रॉक पेंटिंगगरड़दा (बूंदी) से मिली
383राजस्थान निर्माण के समय सबसे छोटा जिलाडूंगरपुर
384रुख भायला कार्यक्रम का शुभारम्भ1986 में डूंगरपुर में राजीव गाँधी ने
385खादरचम्बल बेसिन में गहरी खड्ड युक्त बीहड़ भूमि को
386अरावली पर्वतमाला के कौन से भाग में सर्वाधिक अन्तराल विद्यमान हैमध्यवर्ती अरावली में
387लोहे के औजारों के लिए प्रसिद्ध जिलानागौर
388सौ टापुओं का शहरबाँसवाड़ा
389बावड़ियों की नगरीबूंदी
390भारत की बेर की राजधानीजोधपुर
391राजस्थान का वेल्लोरभैंसरोड़गढ़ (चित्तोडगढ़)
392‘रेगिस्तान का मार्च’रेगिस्तान का पूर्व दिशा की ओर आगे बढ़ना
393सर्वाधिक वोलस्टोनाईट खनिजसिरोही
394ताम्रयुगीन सभ्यताओं की जननीगणेश्वर (सीकर)
395तीर्थों का मामापुष्कर
396तीर्थों का भांजामचकुण्ड (धौलपुर)
397लघु मरुस्थलबीकानेर के उत्तर में महान मरुभूमि से चट्टानी प्रदेश के पूर्व में कच्छ की खाड़ी तक विस्तृत बालूका प्रदेश
398किस दर्रे से होकर ब्यावर-फालना-काण्डला राष्ट्रिय राजमार्ग नं. 14 गुजरता हैबर दर्रा (पाली) से
399प्रथम इकोफ्रेन्डली जोनमाउन्ट आबू (सिरोही)
400आन्तरिक जल प्रवाह क्षेत्रशेखावाटी क्षेत्र

DsGuruJi HomepageClick Here

1 Comment