राजस्थान करेंट अफेयर्स अति महत्वपूर्ण जानकारी : 24 मार्च 2018

जोधपुर से होगी ‘नासा’ के सेंसर की प्री लॉचिंग,  शहर क्षेत्र का अध्ययन करेगा अमरीकी सेंसर एविरिस-एनजी

बासनी (जोधपुर). अमरीका की अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासाÓ का सेंसर एविरिस-एनजी जोधपुर शहर की छतों की टोह लेगा। इसके लिए ये सेंसर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के एनआरएससी हैदराबाद के बनाए एयरक्राफ्ट से उड़ान भरकर यहां पहुंचेगा।

ये एक तरह से नासा के सेंसर की प्री लॉचिंग है जो जोधपुर शहर का अध्ययन करेगा। इसमें अपने निर्धारित उद्देश्यों पर खरा उतरने के बाद इसे विस्तृत अध्ययन के लिए अंतरिक्ष में भेज दिया जाएगा। ये सेंसर शहर में आवासीय क्षेत्र, औद्योगिक क्षेत्र, आबाद सरकारी आवासीय कॉलोनी, स्लम क्षेत्र, परकोटा क्षेत्रमें बने पुराने मकानों की रुफ टॉप (छत) की सैटेलाइट इमेजेज कैप्चर कर वहां सीमेंटेड, आयरन सीट, आयरन शैडोज जैसी निर्माण सामग्री का पता लगाएगा। उसके बाद मिले परिणामों के आधार इसकी व्यापक स्तर पर प्लानिंग की जा सकेगी।

 भगवान झूलेलाल का भक्तों रख दिया एक और नया नाम, जानिए किस नाम से पुकारे जाएंगे भगवान

रामतलाई स्थित झूलेलाल मंदिर में झूलेलाल सेवा समिति के तत्वावधान में मनाए जा रहे झूलेलाल जयंती महोत्सव के तहत शनिवार को छठी पर्व मनाया। इस मौके पर भक्तों ने भगवान का नामकरण किया। इसके साथ ही अब भगवान को श्रद्धालु भगवान झूलेलाल को प्यार से उडेरो कहकर पुकारेंगे। मंदिर समिति के अध्यक्ष सतीश गोपलानी ने बताया कि मंदिर में झूलेलाल जयंती के बाद छठे दिन भगवान का नामकरण किया जाता है।

जयपुर में अब देखिए देवसेना और बाहुबली की विशेष जोडी

जयपुर जू में शनिवार को दो नए मेहमान पहुंचे। शाम करीब पांच बजे एक नर और एक मादा शुतुरमुर्ग को यहां लाया गया है। दोनों का नया अब ठिकाना जयपुर जू ही होगा। यानी अब सैलानियों को विशालकाय पक्षियों में से एक शुतुरमुर्ग को भी देख सकेंगे। नर शुतुरमुर्ग को बाहुबली और मादा को देवसेना नाम दिया गया है। दोनों की उम्र तीन से चार साल के बीच है। चिडिय़ा घर प्रशासन ने इन दोनों के लिए आठ लाख रुपए खर्च किए हैं। जिस प्रजाति को यहां लाया गया है यह मूल रूप से दक्षिण अफ्रीका की प्रजाति है।

यहां रामनवमी पर होगा बुराइयों के अहिरावण का दहन, सालाेें से निभाई जा रही है अनूठी परंपरा

कानोड़. दशहरे पर बुराई के प्रतीक रावण का पुतला जलाने की परंपरा का जि‍क्र आपने जरूर सुना होगा लेकिन मेवाड़ के कानोड़ तहसील के वाशिंदे रव‍िवार रात 44 वां अहिरावण जलाएंगे । जी हां, ये परंपरा सालों से चली आ रही है। इसके ल‍िए यहांं के लोग काफी उत्‍‍‍‍‍‍‍साहित रहते हैं।

एग्रोटयूरिज्म की होगी शुरूआत, पर्यटक नजदीक से देखेंगे खेतीबाड़ी

राजस्थान में हिस्टोरिकल टयूरिज्म के बाद अब एग्रोटूरिज्म को बढ़ावा देने की तैयारी भी की जा रही है। ताकि एग्रोटूरिज्म के जरिए न केवल पर्यटकों को इससे रूबरू करवाया जा सके बल्कि किसान और एग्रीकल्चर से जुड़े छात्रों को इन स्थलों के भ्रमण के जरिए उन्हें प्रशिक्षत भी किया जा सके। इसके लिए कृषि विभाग 50 करोड़ रुपए की लागत से एक मेगा फूड पार्क बनाने की योजना बना रहा है। यह फूड पार्क 100 हेक्टेयर तक की भूमि में बनाया जाएगा।

1 मई से बंद हो जाएगी जयपुर-आगरा शताब्दी एक्सप्रेस

भारत के मशहूर पर्यटन स्थलों जैसे जयपुर और आगरा की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक बुरी खबर है। यात्रियों की कम संख्या को देखते हुए उत्तर-पश्चिम रेलवे ने जयपुर-आगरा शताब्दी एक्सप्रेस को बंद करने का फैसला लिया है। इस फैसले को सबसे ज्यादा नुकसान उन लोगों को है, जो जयपुर से दिल्ली के रास्ते आगरा जाते थे। इस ट्रेन को 1 मई को से बंद कर दिया जाएगा।

error: Content is protected !!