Current Affairs Hindi

महंत नृत्य गोपाल दास चुने गए राममंदिर न्यास के अध्यक्ष

  • केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा गठित ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ की पहली बैठक हुई जिसमें रामजन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष-प्रबंधक का दायित्व सौंपा गया है।
  • वहीं विश्व हिंदू परिषषद यानी विहिप के वरिष्ठ उपाध्यक्ष चंपत राय को महासचिव की जिम्मदारी सुपुर्द की गई है। ट्रस्ट में शामिल वरिष्ठ वकील के. परासरन के आवास पर हुई बैठक में स्वामी गोविंद देव जी गिरी जी महाराज पूना को कोषाध्यक्ष चुना गया है।
  • बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की मंदिर निर्माण समिति का प्रमुख बनाया गया है। बैठक में यह भी फैसला लिया गया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए दान प्राप्त करने के लिए एक बैंक खाता अयोध्या की स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में खुलवाया जाएगा।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट

  • सरकार द्वारा किये गए प्रावधानों के अनुसार राम मंदिर निर्माण का जिम्मा संभालने वाले ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ में 15 न्यासी हैं जिनमें से एक दलित समाज से है।
  • यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र है।
  • राम जन्मभूमि न्यास ट्रस्ट ने अब तक जो भी निर्माण कार्य करवाएं है, उसका उपयोग मंदिर निर्माण में किया जाएगा। मंदिर निर्माण में सरकार की वित्तीय सहायता नहीं होगी। मंदिर निर्माण में जनभागीदारी होगी। ट्रस्ट के अकाउंट में पेमेंट ऑनलाइन, पर्ची और डायरेक्ट कलेक्शन के जरिये किया जाएगा।

प्रष्ठभूमि

  • जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पाँच जजों की संविधान पीठ ने 40 दिनों की सुनवाई के बाद पिछले साल नौ नवंबर को सर्वसम्मति से फ़ैसला सुनाया था। फ़ैसले में विवादित स्थल पर पूजा के अधिकार को मंज़ूरी और मस्जिद के लिए पाँच एकड़ ज़मीन देने के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर निर्माण के लिए रास्ता तैयार कर दिया था।
  • अदालत ने कहा था कि सुन्नी सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड को दी जाने वाली ज़मीन 1993 के अयोध्या एक्ट के तहत अधिगृहीत की गई ज़मीन का हिस्सा हो सकती है या राज्य सरकार चाहे तो अयोध्या में किसी और उपयुक्त और प्रमुख भूखंड का चुनाव कर सकती है।
  • इस पर अमल करते हुए उत्तर-प्रदेश सरकार ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या के रौनाही में धन्नीपुर गांव में पांच एकड़ जमीन प्रदान कर दी है। यह पांच एकड़ जमीन लखनऊ अयोध्या हाई-वे पर अयोध्या से करीब 20 किलोमीटर पहले है।

 

DSGuruJi - PDF Books Notes

Leave a Comment