General Science in Hindi

स्त्रावी ग्रंथियां एवं हार्मोन्स पाचन तंत्र रक्त संगठन के महत्वपूर्ण प्रश्न

मानव शरीर की अंतः स्रावी ग्रंथियां एवं हार्मोन्स पाचन तंत्र रक्त संगठन के महत्वपूर्ण प्रश्नो का संकलन जो आप के आगामी किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में बहुत उपयोगी साबित होंगे। यह उन प्रश्नों को शामिल किया गया है जो पिछली परीक्षा में मुख्य रूप से पूछे गए हे तो आइये जानते हे इन्हे।

मानव शरीर की अंतः स्रावी ग्रंथियां एवं हार्मोन्स पाचन तंत्र रक्त संगठन के महत्वपूर्ण प्रश्न

Endocrine glands and hormones of the human body Important questions of digestive system blood organization in Hindi

Q1. निम्नलिखित में से कौनसा हार्मोन पीयूष ग्रंथि से स्रावित होता है?

(A) STH हार्मोन
(B) TSH हार्मोन
(C) प्रोलैक्टिन हार्मोन
(D) उपर्युक्त सभी
Ans:(D) उपर्युक्त सभी
Notes

पीयूष ग्रंथि से स्रावित होने वाले प्रमुख हार्मोन –
(1) STH हार्मोन (Somato tropic Harmone)
(2) TSH हार्मोन (Thyroid Stimulating Harmone)
(3) FSH हार्मोन (Follicle Stimulating Harmone)
(4) ACTH हार्मोन (Adreno-Cortico tropic Harmone)
(5) LH हार्मोन (Luteinising Harmone)
(6) प्रोलैक्टिन हार्मोन
(7) MSH हार्मोन (Malanocyte Stimulating Harmone)
(8) वैसोप्रेसिन
(9) ऑक्सीटोसिन

Q2. निम्नलिखित में से किस हार्मोन की कमी से ‘बौनापन (Dwarfism)’ रोग होता है?

(A) STH हार्मोन
(B) वैसोप्रेसिन
(C) ऑक्सीटोसिन
(D) ACTH हार्मोन
Ans:(A) STH हार्मोन
Notes- STH हार्मोन :- यह शारीरिक वृद्धि एवं विकास में सहायक होता है। अत: इसे वृद्धि हार्मोन भी कहा जाता है।
– बौनापन :- STH हार्मोन की कमी के कारण बच्चों में ‘बौनापन (Dwarfism)’ रोग होता है।
– भीमकायता :- STH हार्मोन की अधिकता के कारण ‘भीमकायता (Gigantism)’ रोग होता है। इसमें हडि्डयाँ लम्बी हो जाती हैं। यह रोग बच्चों में होता है।
– एक्रोमिगेली :- वयस्कों में यह रोग STH हार्मोन की अधिकता के कारण होता है, जिससे जबड़े का आकार बढ़ जाता है।

Q3. निम्नलिखित में से किस हार्मोन को ‘Birth Harmone’ एवं ‘Milk Ejecting’ हार्मोन भी कहते है?

(A) वैसोप्रेसिन
(B) ऑक्सीटोसिन
(C) ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन
(D) एड्रीनो काॅर्टिको ट्रोपिक हार्मोन
Ans:(B) ऑक्सीटोसिन
Notes- ऑक्सीटोसिन हार्मोन को ‘Birth Harmone’ एवं ‘Milk Ejecting Harmone’ भी कहते है, क्योंकि यह हार्मोन स्तनग्रंथि के विकास से लेकर बच्चा जन्म लेने के बाद भी दुग्ध स्राव में सहायक होता है।
– ऑक्सीटोसिन हार्मोन बच्चे के जन्म के समय गर्भाशय की पेशियों में संकुचन पैदा करता है, जिसके कारण प्रसव-पीड़ा होती है।

Q4. किस हार्मोन के अल्प स्रावण से डायबिटीज इन्सिपिड्स नामक बीमारी होती है?

(A) थायरॉक्सिन
(B) प्रोलैक्टिन
(C) वैसोप्रेसिन
(D) मेलाटोनिन
Ans:(C) वैसोप्रेसिन
Notes- वैसोप्रेसिन हार्मोन के अल्प स्रावण से डायबिटीज इन्सिपिड्स नामक बीमारी होती है। इस बीमारी में प्यास अधिक लगती है एवं बार-बार मूत्र त्याग की आवश्यकता होती है।
– इसे एंटीडाइयूरेटिक हार्मोन भी कहते है।
– वैसोप्रेसिन हार्मोन स्तनधारियों में दुग्ध स्राव को उत्तेजित करता है।

Q5. निम्नलिखित में से कौनसा हार्मोन थायरॉइड ग्रंथि के विकास एवं थायरॉक्सिन हार्मोन के स्राव को नियंत्रित करता है?

(A) MSH हार्मोन
(B) STH हार्मोन
(C) TSH हार्मोन
(D) प्रोलैक्टिन हार्मोन
Ans:(C) TSH हार्मोन
Notes- TSH हार्मोन (Thyroid Stimulating Harmone) थायरॉइड ग्रंथि के विकास एवं थायरॉक्सिन हार्मोन के स्राव को नियंत्रित करता है।

Q6. निम्नलिखित में से कौनसा हार्मोन जनन क्रियाओं पर नियंत्रण करता है?

(A) ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन
(B) ऑक्सीटोसिन
(C) थायमोसिन हार्मोन
(D) पैराथार्मोन
Ans:(A) ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन
Notes- ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन जनन संबंधी क्रियाओं पर नियंत्रण करता है।

Q7. निम्न में से किस रोग को ‘थायरॉइड की आत्महत्या’ कहते हैं?

(A) गलगण्ड
(B) जड़मानवता
(C) हाशीमोटो
(D) मिक्सीडिमा
Ans:(C) हाशीमोटो
Notes- हाशीमोटो रोग के अंतर्गत शरीर स्वत: ही थायरॉइड ग्रंथि को नष्ट कर देता है। इस कारण इसे ‘थायरॉइड की आत्महत्या या Anti Immune रोग’ भी कहते हैं।
– यह रोग थायरॉइड ग्रंथि की अल्पक्रियाशीलता के कारण होता है।

Q8. रक्त के संदर्भ में निम्नलिखत कथनों पर विचार कीजिए।
1. प्लाज्मा में प्रोटीन, नमक तथा हार्मोन उपस्थित होते है।
2. रक्त एक संयोजी ऊतक है।
3. लाल रूधिक कोशिकाएँ, श्वेत रक्त कोशिकाएँ तथा प्लेटलेट्स को संयुक्त रूप से प्लाज्मा कहा जाता है।
उपयुक्त कथनों में से कौन-सा कथन सही है?

(A) केवल 2
(B) 1, 2 तथा 3
(C) 1 व 2 दोनो
(D) उपयुक्त में से कोई नही
Ans:(C) 1 व 2 दोनो
Notes- रक्त के तरल आधात्री भाग को प्लाज्मा कहते है, जिसमें लाल रक्त कोशिकाएँ, श्वेत रक्त काेशिकाएँ तथा प्लेटलेट्स निलंबित होते हैँ

Q9. रूधिर वाहिनियों की अन्दर की सतह होती है।

(A) शल्की उपकला की
(B) चिकनी पेशी ऊतक की
(C) स्तम्भी उपकला की
(D) संयोजी कला की
Ans:(A) शल्की उपकला की

Q10. निम्न में से कौनसा रक्त समूह सर्वदाता है?

(A) AB
(B) O
(C) A
(D) B
Ans:(B) O
Notes- ‘O’ रक्त समूह सर्वदाता है।

Q11. अन्त: स्रावी तंत्र एवं इसकी कार्यप्रणाली का अध्ययन निम्न में से कहलाता है –

(A) एण्डोक्राइनोलॉजी
(B) ऑरगेनोलॉजी
(C) टेक्टोलॉजी
(D) सिन्डेस्मोलॉजी
Ans:

(A) एण्डोक्राइनोलॉजी
Notes- अन्त: स्रावी तंत्र एवं इसकी कार्यप्रणाली का अध्ययन एण्डोक्राइनोलॉजी कहलाता है।
– अंगों का अध्ययन ऑरगेनोलॉजी कहलाता है।
– शरीर के रचनात्मक संघटन का अध्ययन टेक्टोलॉजी (रचना विज्ञान) कहलाता है।
– कंकाल संधियों एवं स्नायुओं का अध्ययन सिन्डेस्मोलॉजी कहलाता है।

Q12. निम्नलिखित में से कौनसी ग्रन्थि एक अन्त: स्रावी नहीं है?

(A) पीयूष ग्रंथि
(B) थायरॉइड ग्रंथि
(C) पैराथायरॉइड ग्रंथि
(D) लार ग्रंथियाँ
Ans:(D) लार ग्रंथियाँ
Notes- अन्त: स्रावी ग्रंथियाँ :- ऐसी ग्रंथियाँ जिनमें वाहिकाएँ अनुपस्थित होती है और हार्मोन को रक्त के प्लाज्मा के माध्यम से शरीर के विभिन्न भागों तक पहुँचाया जाता है।
उदाहरण :- पीयूष ग्रंथि, थायरॉइड ग्रंथि आदि।
– बहि: स्रावी ग्रंथि :- इन ग्रंथियों में एन्जाइम को शरीर के विभिन्न अंगों तक वाहिकाओं के माध्यम से पहुँचाया जाता है।
उदाहरण :- लार ग्रन्थियाँ, त्वचा ग्रंथियाँ आदि।

Q13. निम्नलिखित में से एक मिश्रित ग्रंथि है –

(A) पीयूष ग्रंथि
(B) अश्रु ग्रंथि
(C) श्लेष्म ग्रंथि
(D) अग्नाश्य ग्रंथि
Ans:(D) अग्नाश्य ग्रंथि
Notes- मिश्रित ग्रंथियाँ :- ऐसी ग्रंथियाँ जो अन्त: स्रावी एवं बहि: स्रावी दोनों प्रकार की होती है।
– अग्नाशय एक प्रकार की मिश्रित ग्रंथि है।

Q14. बहि: स्रावी ग्रंथियाँ निम्नलिखित में से किसका स्रावण करती है?

(A) हार्मोन
(B) अमीनो अम्ल
(C) एन्जाइम
(D) a व c दोनों
Ans:(C) एन्जाइम
Notes

बहि: स्रावी ग्रंथियाँ एन्जाइम का स्रावण करती हैं एवं अन्त: स्रावी ग्रंथियाँ हार्मोन का स्रावण करती हैं।

Q15. निम्नलिखित में से किसे ‘मास्टर ग्रंथि’ कहा जाता है?

(A) थायरॉइड ग्रंथि
(B) अधिवृक्क ग्रंथि
(C) पीयूष ग्रंथि
(D) यकृत
Ans:(C) पीयूष ग्रंथि
Notes- पीयूष ग्रंथि को मास्टर ग्रंथि कहा जाता है, क्योंकि यह स्वयं एक अन्त:स्रावी ग्रंथि होने के साथ ही अन्य अन्त: स्रावी ग्रंथियों के उत्सर्जन को नियमित करती है।
– यह शरीर की सबसे छोटी अन्त: स्रावी ग्रंथि भी है।
– पीयूष ग्रंथि मटर के दाने के समान होती है।
– पीयूष ग्रंथि लैंगिक विकास एवं वृद्धि, स्वास्थ्य, अन्त: ग्रंथियों के स्रावण को नियंत्रित करती है।

Q16. मानव शरीर में सबसे बड़ी अन्त:स्रावी ग्रंथि कौनसी है?

(A) पीयूष ग्रंथि
(B) थायरॉइड ग्रंथि
(C) पैराथायरॉइड ग्रंथि
(D) यकृत
Ans:(B) थायरॉइड ग्रंथि
Notes- मानव शरीर की सबसे बड़ी अन्त: स्रावी ग्रंथि थायरॉइड ग्रंथि है।
– मानव शरीर की सबसे छोटी अन्त: स्रावी ग्रंथि पीयूष ग्रंथि है।
– मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि यकृत है।

Q17. थायरॉइड ग्रंथि से निम्नलिखित में से किस हार्मोन का स्रावण होता है?

(A) थायमोसिन
(B) थायरॉक्सिन
(C) पैराथार्मोन
(D) a व b दोनों
Ans:(B) थायरॉक्सिन
Notes- थायरॉइड ग्रंथि से थायरॉक्सिन हार्मोन स्रावित होता है।
– थायरॉइड ग्रंथि श्वासनली के दोनों ओर स्थित दो पालियों से बनी होती है, जिसमें दोनों पालियाँ आपस में इस्थमस द्वारा जुड़ी रहती है।

Q18. जड़मानवता (Cretinism) नामक रोग निम्नलिखित में से किस हार्मोन की कमी से होता है?

(A) एस्ट्रोजन
(B) थायरॉक्सीन
(C) पैराथार्मोन
(D) थायमोसीन
Ans:(B) थायरॉक्सीन
Notes- जड़मानवता नामक रोग थायरॉक्सिन हार्मोन की कमी से होता है। यह बच्चों में होता है तथा इससे बच्चों का मानसिक व शारीरिक विकास अवरुद्ध हो जाता है और बच्चे बौने होते हैं।

Q19. निम्नलिखित में से आहारनाल का प्रारम्भिक भाग कौनसा है?

(A) ग्रसनी
(B) आमाशय
(C) मुखगुहा
(D) ग्रसिका
Ans:(C) मुखगुहा
Notes- मुखगुहा आहारनाल का प्रारंभिक भाग है।
– मुखगुहा का ऊपरी भाग तालु कहलाता है।
– जीभ तथा दाँत मुखगुहा के भाग होते हैं।

Q20. जीभ के सबसे पिछले भाग से निम्न में से किस प्रकार के स्वाद का अनुभव होता है?

(A) मीठा
(B) कड़वा
(C) खट्टा
(D) नमकीन
Ans:(B) कड़वा
Notes- जीभ के पिछले भाग से– कड़वा स्वाद
– आगे वाले भाग से– मीठा स्वाद
– मध्य किनारों के भाग पर– खट्टा स्वाद
– आगे किनारों के भाग पर– नमकीन स्वाद

Q21. मनुष्य में अस्थायी दाँतों की संख्या कितनी होती हैं?

(A) 10
(B) 18
(C) 22
(D) 20
Ans:(D) 20
Notes- मनुष्य में (शैशवावस्था) अस्थाई दाँतों की संख्या 20 होती हैं।
– शैशवावस्था के दाँतों को दूध के दाँत कहा जाता है तथा वयस्कावस्था में निकलने वाले दाँतों को स्थायी दाँत कहा जाता है।

Q22. गर्तदन्ती से क्या अभिप्राय है?

(A) दाँत जो जीवन में दो बार आते हैं।
(B) एक से अधिक प्रकार के दाँत
(C) दाँत जो जबड़े की हडि्डयों में धँसे होते हैं।
(D) इनमें से कोई नहीं।
Ans:

Q23. ‘भोजन को चीरने-फाड़ने का कार्य’ निम्न में से किस प्रकार के दाँत का है?

(A) कृन्तक
(B) रदनक
(C) अग्रचवर्णक
(D) चवर्णक
Ans:(B) रदनक
Notes

मनुष्य में स्थायी दाँत निम्न चार प्रकार के होते हैं –
(1) कृन्तक (Incisors) – सबसे आगे वाले, धारदार व चपटे।
कार्य – भोजन को काटने का कार्य।
(2) रदनक (Canine) – नुकीले दाँत
कार्य – भोजन को चीरना-फाड़ना।
(3) अग्रचवर्णक (Premolar) – आकार में चौड़े।
कार्य – भोजन को पीसना।
(4) चवर्णक (Molar) – अपेक्षाकृत अधिक चौड़े
कार्य – भोजन को पीसना।

Q24. मानव शरीर का सबसे कठोर भाग कौनसा है?

(A) इनैमल
(B) फीमर
(C) मस्तिष्क
(D) ओण्डोब्लाट्स
Ans:(A) इनैमल
Notes- इनैमल दाँत की सबसे ऊपरी परत होती है जो मानव शरीर का सबसे कठोर भाग है।
कार्य :- दाँतों को जीवाणुओं एवं भोजन खाने से पड़ने वाले दबाव से सुरक्षा प्रदान करना।

Q25. स्तनधारियों की लार में निम्न में से कौनसा एन्जाइम पाया जाता है?

(A) टाइलिन
(B) लाइसोजाइम
(C) पेप्सिन
(D) a व b दोनों
Ans:(D) a व b दोनों
Notes- मुख्य रूप से लार में दो प्रकार के एन्जाइम पाए जाते हैं –
(1) टाइलिन – यह स्टार्च के पाचन में मदद करता है।
(2) लाइसोजाइम – इसमें प्रतिजीवाणुकारक गुण पाये जाते हैं।

Q26. ग्रासनली व आमाशय के मध्य पाया जाने वाला वह भाग कौनसा है जो भोजन को आमाशय से पुन: ग्रासनली में जाने से रोकता है –

(A) वाॅल्व स्फिंक्टर
(B) एपिग्लॉट्स
(C) स्वरयंत्र
(D) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans:(A) वाॅल्व स्फिंक्टर
Notes

आमाशय तथा ग्रासनली के बीच में एक वॉल्व स्फिंक्टर पाया जाता है, जो भोजन को वापस ग्रासनली में जाने से रोकता है।

Q27. आमाशय में पेप्सिन एन्जाइम का निम्न में से कार्य है –

(A) जीवाणुओं को नष्ट करना।
(B) भोजन में उपस्थित प्रोटीन का पाचन।
(C) दूध में उपस्थित प्रोटीन का पाचन।
(D) एन्जाइमों को सक्रिय करना।
Ans:(B) भोजन में उपस्थित प्रोटीन का पाचन।Notes

आमाशय में –
– हाइड्रोक्लोरिक अम्ल – जीवाणुनाशक का कार्य। एन्जाइमों को सक्रिय करना।
– रेनिन – दूध में उपस्थित प्रोटीन का पाचन करना। (बच्चों में)
– पेप्सिन – भोजन में उपस्थित प्रोटीन का पाचन।
– श्लेष्मा (Mucous) – श्लेष्मा कोशिकाओं से स्रावित श्लेष्मा आमाशय की दीवारों और जठर ग्रन्थियों को HCl अम्ल एवं पेप्सिन से सुरक्षित रखता है।

Q28. निम्नलिखित में से कौनसा भाग छोटी आँत का नहीं है?

(A) ग्रहणी
(B) मध्यान्त्र
(C) ग्रसनी
(D) शेषान्त्र
Ans:(C) ग्रसनी
Notes

छोटी आँत के भाग –
– ग्रहणी
– मध्यान्त्र
– शेषान्त्र

Q29. पित्त रस (Bile Juice) का स्राव निम्नलिखित में से कहाँ से होता है?

(A) अग्नाशय
(B) यकृत
(C) छोटी आँत
(D) बड़ी आँत
Ans:(B) यकृत
Notes

पित्त रस एक हरे रंग का तरल क्षारीय पदार्थ होता है जिसका स्राव यकृत करता है।
– इसका Ph मान लगभग 7.7 होता है।
– इसका भण्डारण पित्ताशय में होता है।

Q30. शरीर में प्रोटीन के विघटन के फलस्वरूप बनने वाले नाइट्रोजनी क्षारक अमोनिया को यूरिया में परिवर्तित कौन करता है?

(A) छोटी आँत
(B) बड़ी आँत
(C) अग्नाशय
(D) यकृत
Ans:(D) यकृत
Notes

नाइट्रोजनी क्षारक अमोनिया एक विषैला पदार्थ होता है, जिसे यकृत यूरिया में बदलता है जो मूत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है।

Q31. एक प्रोटीन जो मानव शरीर में रक्त को जमने से रोकने का कार्य करता है, वह है –

(A) फाइब्रिनोजन
(B) विटामिन-K
(C) हिपैरिन
(D) पेप्सिन
Ans:(C) हिपैरिन
Notes- हिपैरिन एक थक्का रोधी प्रोटीन है, जो मानव शरीर में रक्त को जमने से राेकने का कार्य करता है। इस प्रोटीन का स्राव शरीर में यकृत कोशिकाओं द्वारा होता है।

Q14. निम्न में से किसके द्वारा फाइब्रिनोजन एवं प्रोथॉम्बिन नामक प्रोटीन का स्राव होता है?

(A) यकृत
(B) पित्ताशय
(C) बड़ी आँत
(D) मुखगुहा
Ans:(A) यकृत
Notes- फाइब्रिनोजन एवं प्रोथॉम्बिन नामक प्रोटीन का स्राव यकृत से होता है।
– मृत लाल रूधिर कणिकाओं को नष्ट करने का कार्य भी यकृत करता है।

Q32. शल्य चिकित्सा द्वारा पित्ताशय को हटा देना क्या कहलाता है?

(A) लिथोट्रिप्सी
(B) कोलेसिस्टेक्टोमी
(C) केरियोलॉजी
(D) a व b दोनों
Ans:(B) कोलेसिस्टेक्टोमी
Notes

शल्य चिकित्सा के माध्यम से पित्ताशय को हटाना ‘कोलेसिस्टेक्टोमी’ कहलाता है।
– बिना शल्य क्रिया के अल्ट्रासोनिक विकिरण द्वारा पथरी को गलाना ‘लिथोट्रिप्सी’ कहलाता है।

Q33. निम्न में से कौनसा पाचक एन्जाइम अग्नाशय रस में पाया जाता है?

(A) ट्रिप्सिन
(B) एमाइलेज
(C) लाइपेज
(D) उपर्युक्त सभी
Ans:(D) उपर्युक्त सभी
Notes

अग्नाशय, अग्नाशय रस का स्रावण करता है जो नलिका के माध्यम से ग्रहणी में जाता है। इस रस में मुख्य रूप से निम्न पाचक एंजाइम पाए जाते हैं।
(1) ट्रिप्सिन
(2) एमाइलेज
(3) लाइपेज

Q34. लैंगरहैन्स की \alphaα-कोशिकाओं से निम्नलिखित में से किस पदार्थ का स्राव होता है?

(A) ग्लूकागोन (Glucagon)
(B) इन्सुलिन
(C) सोमैटोस्टेटिन
(D) ग्रेलिन
Ans:(A) ग्लूकागोन (Glucagon)
Notes

लैंगरहैन्स की कोशिकाओं से स्त्रावित पदार्थ –
– अल्फा कोशिकाएँ – ग्लूकागोन
– बीटा कोशिकाएँ – एमाइलिन एवं इन्सुलिन
– गामा कोशिकाएँ – अग्नाशयी पॉलीपेप्टाइड
– डेल्टा कोशिकाएँ – सोमैटोस्टेटिन
– एप्सिलोन कोशिकाएँ – ग्रेलिन
– इन्सुलिन का कम मात्रा में स्राव होने के कारण मधुमेह रोग होता है।

Q35. निम्नलिखित में से यकृत में कौनसा विटामिन संचित होता है?

(A) विटामिन-

(A)
(B) विटामिन-(D)
(C) विटामिन-K
(D) a व b दोनों
Ans:(D) a व b दोनों
Notes

यकृत में विटामिन-A व विटामिन-D संचित होते हैं।
– कार्बोहाइड्रेट उपापचयन के अन्तर्गत यकृत ग्लाइकोजन (Glycogen) का निर्माण एवं संचय करता है।

Q36. निम्न में से कहाँ पर कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, न्यूक्लिक अम्ल तथा वसा का पूर्ण रूप से पाचन होता है?

(A) बड़ी आँत
(B) छोटी आँत
(C) आमाशय
(D) इनमें से कोई नहीं
Ans:(B) छोटी आँत
Notes

कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, न्यूक्लिक अम्ल तथा वसा का पूर्ण रूप से पाचन छोटी आँत में होता है। पचे हुए पोषक पदार्थों को अवशोषित करके छोटी आँत इन्हें रूधिर एवं लसिका में मिश्रित करती है।

Q37. निम्नलिखित में बड़ी आँत का प्रमुख कार्य है –

(A) जल का अवशोषण करने का कार्य
(B) अपचित भोजन को शरीर से बाहर निकालने का कार्य
(C) प्रोटीन संश्लेषण का कार्य
(D) a व b दोनों
Ans:(D) a व b दोनों
Notes- बड़ी आँत, छोटी आँत की तुलना में ज्यादा चौड़ी, लेकिन लम्बाई में छोटी होती है।
– वयस्क मनुष्य में बड़ी आँत की लम्बाई लगभग 1.5 मीटर तथा चौड़ाई 6.7 सेमी. होती है।
– बड़ी आँत के मुख्य रूप से तीन बड़े भाग है –
(1) उण्डुक (Caecum)
(2) वृहदांत्र (Colon)
(3) मलाशय (Rectum)

Q38. मनुष्य में कितने जोड़ी लार ग्रन्थियाँ पाई जाती हैं?

(A) 2 जोड़ी
(B) 4 जोड़ी
(C) 3 जोड़ी
(D) 1 जोड़ी
Ans:(C) 3 जोड़ी
Notes- मनुष्य में तीन जोड़ी लार ग्रन्थियाँ पाई जाती हैं, जो इस प्रकार हैं –
(1) अधोजिह्वा ग्रंथि (Sublingual Glands)
(2) अवअधोहनुज ग्रंथि (Submandibulal Glands)
(3) उपकर्ण ग्रंथि (Parotid Glands)

Q39. निम्न में से अग्नाशयी रस का PH मान कितना होता है?

(A) 7.5 – 8.3
(B) 6.8
(C) 7.7
(D) 5.8
Ans:(A) 7.5 – 8.3
Notes- अग्नाशयी रस का PH मान 7.5-8.3 के बीच होता है। अत: इसकी प्रकृति क्षारीय होती है।
– लार का PH मान लगभग 6.8 होता है। अत: इसकी प्रकृति अम्लीय होती है।
– पित्त रस का PH मान लगभग 7.7 होता है। अत: इसकी प्रकृति अम्लीय होती है।

Q40. पेप्सिन एंजाइम द्वारा आमाशय की दीवार का आंशिक पाचन क्या कहलाता है?

(A) अल्सर
(B) कब्ज
(C) अपच
(D) काइम
Ans:(A) अल्सर
Notes- पेप्सिन एंजाइम द्वारा आमाशय की दीवार का आंशिक पाचन ‘अल्सर’ कहलाता है।
– आमाशय में भोजन का लुग्दी समान रूप काइम कहलाता है।
– आमाशय के अन्दर कार्बोहाइड्रेट का अपघटन नहीं होता है, जबकि प्रोटीन का अपघटन होता है।

Q41. मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि कौनसी है?

(A) पीयूष ग्रंथि
(B) थायरॉइड ग्रंथि
(C) थायमस ग्रंथि
(D) यकृत
Ans:(D) यकृत
Notes- यकृत मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि है।
– यकृत उदरगुहा के दायीं ओर डायफ्राम से लगा होता है।
– यकृत का रंग गहरा धूसर होता है।
– यकृत के निचले भाग में एक छोटी सी थैली होती है, जो पित्ताशय कहलाती है।

Q42. प्रोटीन एवं पेप्टोन को अमीनो अम्ल में कौनसा एंजाइम बदलता है?

(A) माल्टेज
(B) इरेप्सिन
(C) सुक्रेस
(D) लाइपेज
Ans:(B) इरेप्सिन
Notes- इरेप्सिन – प्रोटीन एवं पेप्टोन को अमीनो अम्ल में बदलता है।
– माल्टेज – माल्टोज को ग्लूकोज शर्करा में बदलता है।
– सुक्रेस – सुक्रोज को ग्लूकोज एवं फ्रक्टोज में बदलता है।
– लेक्टेज – लैक्टोज को ग्लूकोज एवं ग्लेक्टोज में बदलता है।
– लाइपेज – इमल्शीकृत वसाओं को ग्लीसरीन एवं ‘फैटी एसिड्स’ में बदलता है।

Q43. हाइपोग्लाइसीमिया नामक रोग निम्न में से किस कारण से होता है?

(A) इन्सुलिन के अतिस्राव के कारण
(B) इन्सुलिन के अल्पस्राव के कारण
(C) खाद्य विषाक्तता के कारण
(D) प्रोटीन की कमी से
Ans:(A) इन्सुलिन के अतिस्राव के कारण
Notes

हाइपोग्लाइसीमिया रोग इन्सुलिन के अतिस्राव के कारण रक्त में ग्लूकोज की मात्रा कम होने के कारण होता है। इस रोग से दृष्टि क्षमता एवं जनन क्षमता प्रभावित होती है।

Q44. निम्नलिखित में से ग्रासनली की दीवारों के संकुचन और प्रसरण की गति क्या कहलाती है?

(A) अनुशिथिलन
(B) जहर सम्बन्धी
(C) क्रमाकुंचन
(D) दोलन
Ans:(C) क्रमाकुंचन
Notes- ग्रासनली की दीवारें पेशीय और संकुचनशील होती है। इसमें स्तरित स्क्वैमस एपीथिलियम पाई जाती है जो भोजन के ग्रासनली में प्रवेश करते ही फैलने व सिकुड़ने लगती है, जिसे क्रमाकुंचन कहते है।
– इसी प्रक्रिया की वजह से भोजन ग्रासनली से आमाशय में प्रवेश करता है।

Q45. एन्जाइम क्या है?

(A) वायरस
(B) बैक्टीरिया
(C) विटामिन
(D) जैव उत्प्रेरक
Ans:(D) जैव उत्प्रेरक

Q46. शरीर का अंग जो रक्त के शुद्धिकरण से संबंधित है?

(A) गुर्दे
(B) यकृत
(C) अग्नाशय
(D) पित्ताशय
Ans:(A) गुर्दे
Notes

गुर्दे युग्मित अंग होते हैं जो मानव शरीर रक्त के शुद्धिकरण का कार्य करते हैं।

Q47. निम्न में से पित्त रस में कौनसा पित्तवर्णक उपस्थित होता है?

(A) बिलिरूबिन
(B) बिलवर्डिन
(C) मेलानीन
(D) a व b दोनों
Ans:(D) a व b दोनों
Notes

पित्तरस में पाए जाने वाले पित्तवर्णक बिलिरूबिन तथा बिलवर्डिन है।

Q48. रक्त का रंग लाल किस कारण होता है?

(A) हीमोग्लोबिन की उपस्थिति के कारण
(B) बेसोफिल्स के कारण
(C) मोनोसाइट के कारण
(D) थ्रोम्बोसाइट की उपस्थिति के कारण
Ans:(A) हीमोग्लोबिन की उपस्थिति के कारण
Notes- लाल रूधिर कणिकाओं में पाये जाने वाले हिमोग्लोबिन प्रोटीन के कारण रक्त का रंग लाल होता है। लाल रक्त कोशिकाऐं केन्द्रक विहीन होती है। परन्तु ऊँट व लामा इसके अपवाद है।
– RBC का जीवनकाल 120 दिन होता है। ये यकृत व प्लीहा में नष्ट होते है। प्लीहा (Spleem) को लाल रक्त कणिकाओं का कब्रिस्तान कहते है।

Q49. रक्त है?

(A) कोशिका
(B) अंग
(C) संयोजी उत्तक
(D) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans:(C) संयोजी उत्तक
Notes- रक्त एक संयोजी उत्तक है। मानव में रक्त में पायी जाने वाली लाल रक्त कणिकाओं कि सतह पर पाये जाने वाले प्रतिजन AB की उपस्थिति के आधार पर चार समूहों में बांटा गया है। A, B, AB, O
– रक्त मुख्य रूप से O2 व CO2 वातावरण के मध्य विनिमय करने का कार्य करता है। इसके अलावा पोषक तत्वों का परिवहन, शरीर का pH नियन्त्रण, ताप नियन्त्रण प्रतिरक्षण कार्यों को संपादित करना। हार्मोन परिवहन, उत्सर्जी पदार्थों को शरीर के बाहर उत्सर्जित करना आदि कार्य करता है।

Q50. ऑक्सीजनित रक्त प्रवाहित होता है?

(A) धमनी
(B) शिरा
(C) शिरा व धमनी दोनों
(D) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans:(A) धमनी
Notes- रक्त वाहिकायें दो प्रकार की होती है। रक्त वाहिकायें एक जाल का निर्माण करती है जिनमें प्रवाहित होकर रक्त कोशिकाओं तक पहुँचता है।
– धमनी वे वाहिकायें जिनमें ऑक्सीजनित साफ रक्त प्रवाहित होता है, ये हृदय से रक्त को आगे पहुँचाती है।- शिरा–वे वाहिकायें जिनमें विऑक्सीजनित अपशिष्ट रक्त प्रवाहित होता है। ये रक्त को हृदय की ओर ले जाती है।

Q51. रक्त संचार या रक्त परिसंचरण को किसने खोजा था?

(A) वाल्टेयर
(B) लैगर हैन्स
(C) विलियम हार्वे
(D) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans:(C) विलियम हार्वे
Notes- रक्त परिसंचरण की खोज विलियम हार्वे ने की।

Q52. रक्त की पहचान के लिये महत्वपूर्ण रक्त समूह की खोज करने वाले खोजकर्ता का नाम बताइये?

(A) लेमार्क ने
(B) लेगर हैन्स
(C) कार्ल लैण्ड स्टीनर
(D) विलियम हार्वे
Ans:(C) कार्ल लैण्ड स्टीनर
Notes- रक्त समूह की खोज कार्ल लैण्डस्टीनर ने की। प्रमुख रक्त समूह – A, B, AB, O

Q53. निम्न मे से कौनसा रक्त समूह सर्वग्राही है?

(A) B
(B) AB
(C) A
(D) O
Ans:(B) AB
Notes- लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर उपस्थिति आनुवांशिक प्रतिजनी पदार्थो की उपस्थिति या अनुपस्थिति के आधार पर रक्त समूहों का वर्गीकरण किया गया। ‘AB’ रक्त समूह सर्वग्राही है।

Q54. सामान्य मानव का खून बहने का समय और जमने का समय क्रमश: ………… और ………… होता है।

(A) 2-3 और 4-6 मिनट
(B) 2-10 और 5-15 सैकण्ड
(C) 2-7 और 3-10 मिनटर
(D) 5-15 और 10-20 सैकण्ड
Ans:(C) 2-7 और 3-10 मिनटर
Notes- मानव शरीर में खून बहने का समय और जमने का समय 2-7 और 3-10 मिनट होता है। विटामिन K (फिलोक्वीनॉन) का कार्य रक्त का थक्का जमाना होता है।
खून का pH मान 7.4 होता है अर्थात् यह क्षारीय प्रकृति का होता है। महिलाओं में रक्त पुरुषों से 1/2 लीटर कम होता है।

Q55. निम्नलिखित में से कौन-सा अशुद्ध रक्त संचार करता है?

(A) पल्मोनरी शिरा
(B) अल्वेओली
(C) पल्मोनरी धमनी
(D) महाधमनी
Ans:(A) पल्मोनरी शिरा
Notes- पल्मोनरी धमनी में अशुद्ध रक्त बहता है। पल्मोनरी धमनी हृदय के दांए निलय से रक्त फेफड़े को पहुँचाती हैं। हृदय के दाहिने भाग में अशुद्ध रक्त (CO2 वाला) व बांए भाग में शुद्ध रक्त होता है।

Q56. रक्त का थक्का बनने में फाइब्रिनोजिन को फाइब्रिन के परिवर्तन में भाग लेने वाला एन्जाइम है –

(A) पैप्सिन
(B) माल्टेज
(C) थ्रॉम्बिन
(D) प्रोथ्रॉम्बिन
Ans:(C) थ्रॉम्बिन

Q57. हीमोग्लोबिन क्या है?

(A) पौधों की पत्तियों में पाया जाने वाला पदार्थ
(B) बोन मेरो में पाया जाने वाला पदार्थ
(C) मानव रक्त में पाया जाने वाला पदार्थ
(D) पिट्यूटरी में ग्रंथि से निकलने वाला स्राव
Ans:(C) मानव रक्त में पाया जाने वाला पदार्थ

Q58. अगर अग्नाशय में खराबी हो तो क्या होगा?

(A) पाचन क्रिया ठीक तरह नहीं होगी
(B) इन्सुलिन और ग्लूकागोन नहीं बनेंगे
(C) रक्त निर्माण बन्द हो जायेगा
(D) रक्तचाप बढ़ जायेगा
Ans:(B) इन्सुलिन और ग्लूकागोन नहीं बनेंगे

Q59. रक्त के संदर्भ में निम्नलिखत कथनों पर विचार कीजिए।
1. प्लाज्मा में प्रोटीन, नमक तथा हार्मोन उपस्थित होते है।
2. रक्त एक संयोजी ऊतक है।
3. लाल रूधिक कोशिकाएँ, श्वेत रक्त कोशिकाएँ तथा प्लेटलेट्स को संयुक्त रूप से प्लाज्मा कहा जाता है।
उपयुक्त कथनों में से कौन-सा कथन सही है?

(A) केवल 2
(B) 1, 2 तथा 3
(C) 1 व 2 दोनो
(D) उपयुक्त में से कोई नही
Ans:(C) 1 व 2 दोनो
Notes- रक्त के तरल आधात्री भाग को प्लाज्मा कहते है, जिसमें लाल रक्त कोशिकाएँ, श्वेत रक्त काेशिकाएँ तथा प्लेटलेट्स निलंबित होते हैँ

Q60. रूधिर वाहिनियों की अन्दर की सतह होती है।

(A) शल्की उपकला की
(B) चिकनी पेशी ऊतक की
(C) स्तम्भी उपकला की
(D) संयोजी कला की
Ans:(A) शल्की उपकला की

Q61. निम्न में से कौनसा रक्त समूह सर्वदाता है?

(A) AB
(B) O
(C) A
(D) B
Ans:(B) O
Notes- ‘O’ रक्त समूह सर्वदाता है।

 

DSGuruJi - PDF Books Notes