आज के टॉप करेंट अफेयर्स

Current Affairs: 26 May 2020

करेंट अफेयर्स: 26 मई 2020 हम यहां आपके लिए महत्वपूर्ण हालिया और नवीनतम करेंट अफेयर्स प्रदान करने के लिए हैं 26 मई 2020, हिंदू, इकनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, पीटीआई, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस जैसे सभी अखबारों से नवीनतम करेंट अफेयर्स 2020 घटनाओं को यहा प्रदान कर रहे है। यहा सभी डाटा समाचार पत्रों से लिया गया हे। हमारे करेंट अफेयर्स अप्रैल 2020 सभी इवेंट्स से आपको बैंकिंग, इंश्योरेंस, SSC, रेलवे, UPSC, क्लैट और सभी स्टेट गवर्नमेंट एग्जाम में ज्यादा मार्क्स हासिल करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, आप यहा निचे दिये print बटन पर क्लिक करके PDF प्राप्त कर सकते हे .

Current Affairs: 26 May 2020

1. 23 मई को मनाया गया ‘विश्व कछुआ दिवस’

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) ने भारतीय वन्यजीव संस्थान (डब्ल्यूआईआई) के साथ मिलकर 23 मई को ‘विश्व कछुआ दिवस’ मनाया इस अवसर पर वेबिनार का आयोजन भी किया गया था।

  • इस अवसर पर, ऑनलाइन मंच का उपयोग करते हुए विश्व कछुआ दिवस चित्रकला, स्लोगन लेखन और निबंध प्रतियोगिताओं के विजेताओं की घोषणा की गई। इस ऑनलाइन प्रतियोगिता में, भारत और विदेश के विभिन्न हिस्सों से आए बच्चों ने योगदान किया।
  • इस दिन को चिन्हित करने के लिए, बच्चों के लिए कछुओं पर लिखी गई कहानी पुस्तक, “बिना वेतन करें सफाई” का विमोचन किया गया। इस किताब में, कछुए के संदर्भ में दिलचस्प कहानियों को शामिल किया गया है।
  • यह किताब नदी के पारिस्थितिकी तंत्र को बनाए रखने में कछुओं के महत्व पर प्रकाश डालती है और हमारी नदी प्रणालियों में कछुओं के संरक्षण में योगदान करने के लिए सभी लोगों से अनुरोध करती है।

विश्व कछुआ दिवस

  • विश्व कछुआ दिवस मनाने की शुरूआत 2000 में हुई थी। तब से यह हर साल मनाया जाता है। इस दिन को मनाने की शुरुआत अमेरिकन टॉर्ट्वायज रेस्क्यू (एटीआर) ने की थी।
  • विश्व कछुआ दिवस कछुओं की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करने एवं उनके संरक्षण के दृष्टि से विश्व भर में मनाया जाता है। अकेले भारत में कछुए की 29 प्रजातियां पाई जाती है जिनमें 14 अकेले गंगा में मिलती हैं। गंगा की सफाई में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है, इनके बगैर नदियों का अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा।
  • कछुए जैसे सरिसृप की कई प्रजातियां संकटग्रस्तता को झेल रही हैं , इन जीवों का अंधाधुंध शिकार और उनके प्राकृतिक आवास से पकड़ा जा रहा हैं इनके मांस, और पालतू जीवों की तरह घरों में रखने की प्रवृत्ति बढ़ रही है जबकि कछुए और दूसरे सरीसृप पहले से ही उनके आवास के कमी को झेल रहे हैं और वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 के अंतर्गत संरक्षित हैं।

2. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ईद-उल-फित्र पर देशवासियों को दी बधाई

  • ईद के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को मुबारकबाद दी है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘ईद मुबारक, ईद-उल-फितर की बधाई। इस विशेष अवसर पर करुणा, भाईचारे और सद्भाव की भावना को आगे बढ़ाएं। सभी लोग स्वस्थ और समृद्ध रहें।’

ईद-उल-फित्र

  • रमजान का पवित्र माह जब खत्म होता है तो 30 दिनों तक रोजा रखने के बाद ईद का त्यौहार देश भर में पूरे जोश और उत्साह से मनाया जाता है। ईद कब है यह इस बात पर निर्भर करता है कि चांद कब दिखता है।
  • अतः ईद का चांद दिखने के बाद ही ईद मनाई जाती है इस प्रकार यह इस्लामिक कैलेंडर के शव्वाल महीने की पहली तारीख को मनाई जाती है।
  • रमजान के 30वें रोज़े के बाद ईद का चांद नजर आता है। इस्लामिक कैलेण्डर जिसे हिजरी कैलेण्डर कहा जाता है के मुताबित साल में दो बार ईद मनाई जाती है। इनमें ईद-उल- और ईद-उल-जुहा हैं ईद-उल-फितर को महज ईद और मीठी ईद भी कहा जाता है।
  • ईद उल-फितर का सबसे अहम मक्सद एक और है कि इसमें ग़रीबों को फितरा देना वाजिब है जिससे वो लोग जो ग़रीब हैं मजबूर हैं अपनी ईद मना सकें नये कपडे पहन सकें और समाज में एक दूसरे के साथ खुशियां बांट सकें।

3. डाक विभाग का बिहार पोस्टल सर्किल लोगों के दरवाजों तक पहुंचाएगा ‘शाही लीची’ और ‘जर्दालु आम’

भारत सरकार के डाक विभाग और बिहार सरकार के बागवानी विभाग ने लोगों के दरवाजों तक ‘शाही लीची’ और ‘जर्दालु आम’ की आपूर्ति करने के लिए हाथ मिलाया है।

  • बिहार पोस्टल सर्किल ने बिहार सरकार के बागवानी विभाग के साथ मुजफ्फरपुर से शाही लीची और भागलपुर से जर्दालु आम की लॉजिस्टिक्स करने तथा इसकी लोगों के दरवाजों तक प्रदायगी करने के लिए एक करार किया है।
  • कोरोना वायरस को सीमित करने के लिए लॉकडाउन के कारण लीची और आम के उत्पादकों को फलों को बेचने के लिए बाजार तक ले जाने/परिवहन की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
  • लोगों के बीच इसकी आपूर्ति एक बड़ी चुनौती बन गई है इसलिए आम लोगों की मांग को पूरी करने और किसानों को उनका फल बेचने के लिए बिना किसी बिचौलिये के सीधे उनका बाजार उपलब्ध कराने के लिए बिहार सरकार के बागवानी विभाग एवं भारत सरकार के डाक विभाग ने इस पहल के लिए हाथ मिलाया है।
  • आरंभ में यह सुविधा ‘शाही लीची’ के लिए मुजफ्फरपुर और पटना के लोगों को तथा ‘ जर्दालु आम’ के लिए पटना और भागलपुर के लोगों के लिए उपलब्ध होगी। लीची की बुकिंग न्यूनतम 2 किग्रा तथा आम की बुकिंग न्यूनतम पांच किग्रा तक के लिए होगी।

शाही लीची

  • “शाही लीची” का उत्पादन मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, वैशाली, समस्तीपुर तथा बेगुसराय जिलों में किया जाता है। बिहार में देश की कुल 40% लीची का उत्पादन किया जाता है।
  • शाही लीची को 2018 में बौद्धिक संपदा अधिकार के तहत जीआइ टैग  (ज्योग्राफिकल इंडिकेशन) दिया गया था।

जर्दालु आम

  • भागलपुर में होने वाले हल्के पीले रंग का यह आम 104-106 दिनों में तैयार होता है। वजन 186-265 ग्राम तक होता है। कम रेशे वाले इस आम में शुगर की मात्रा 16.33 फीसद होती है।
  • जर्दालु आम को 2018 में बौद्धिक संपदा अधिकार के तहत जीआइ टैग  (ज्योग्राफिकल इंडिकेशन) दिया गया था।

4. लॉकडाउन की मार झेल रही बंगाल की टोटो जनजाति

दुनिया में सबसे कम आबादी वाली जनजातियों में से एक पश्चिम बंगाल के अलीपुरदुआर जिले में टोटोपारा की टोटो जनजाति अपनी अनोखी भौगोलिक स्थिति के कारण लॉकडाउन की मार झेल रहा है। स्थानीय निवासियों ने यह जानकारी दी है।

  • उन्होंने कहा कि टोटोपारा के निवासी पीडीएस में मिले चावल और आटे पर गुजारा कर रहे हैं। लॉकडाउन के कारण अन्य आवश्यक वस्तुएं गांव में नहीं मिल पा रही हैं।
  • गांव के किसान सुपारी और अदरक जैसी नकदी फसलों पर निर्भर हैं लेकिन लॉकडाउन के कारण वे मदारीहाट के थोक व्यापारियों को ये फसलें नहीं बेच पा रहे हैं।

लॉकडाउन कैसे बना समस्या?

  • केवल 1,600 की आबादी वाले टोटो पश्चिम बंगाल के तीन विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों में से एक है। वे केवल टोटोपारा में रहते हैं। यहाँ पांच पहाड़ी नदियाँ हैं जो केवल मानसून में बहती हैं।
  • भूटान की सीमा पहाड़ी क्षेत्र में स्थित टोटोपारा मदारीहाट से केवल 16 किमी दूर है। भारत के अन्य हिस्सों की तुलना में इस जनजाति के लोग भूटान में दिहाड़ी पर काम करते हैं।
  • कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण टोटोपारा के प्रवासी मजदूर काम के लिए भूटान जाने में असमर्थ हैं और जो लोग लॉकडाउन से पहले भूटान गए थे वे वहां फंसे हुए हैं।
  • गांव को भीषण जल संकट का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि मानसून के अलावा अन्य मौसम में टोटोपारा के निवासी पानी लाने भूटान जाते हैं। कोविड-19 के खतरे के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय सीमा सील कर दी गई है।

5. बी आर शर्मा जम्मू-कश्मीर लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष नियुक्त

  • कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) के मौजूदा अध्यक्ष बी आर शर्मा को जम्मू-कश्मीर लोक सेवा आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
  • शर्मा ने एसएससी में दो साल का सेवा विस्तार मिलने के एक महीने के भीतर पद से मुक्त करने का अनुरोध किया था। शर्मा को अक्टूर 2019 में एसएससी की अध्यक्ष नियुक्त किया गया था और केंद्र सरकार ने सेवानिवृत्त होने के बाद 30 अप्रैल 2020 को उन्हें दो साल का सेवा विस्तार दिया था।
  • भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 1984 बैच के सेवानिवृत्त अधिकारी शर्मा जम्मू-कश्मीर काडर के अधिकारी हैं और केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर आने से पहले तात्कालिक जम्मू-कश्मीर राज्य (अब केंद्रशासित प्रदेश है) के मुख्य सचिव पद की जिम्मेदारी निभा रहे थे।

6. फेसबुक ने लॉन्च किया ‘फेसबुक शॉप’

  • महामारी की मार झेल रहे व्यवसायों और व्यापारियों की मदद के लिए फेसबुक ने ऑनलाइन दुकानों की सेवा‘फेसबुक शॉप’ शुरू की है। इस नई सुविधा के तहत दुकानदार फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपनी दुकान बना पाएंगे और उसमें अपने तरीके से चीजों और सामानों की सजा पाएंगे।
  • आसान भाषा में समझें तो ये एक ऑनलाइन स्टोर है, जो बिजनस करने वाले फेसबुक प्लेटफॉर्म पर बना सकते हैं। ग्राहक इन स्टोर को फेसबुक और इंस्टाग्राम के जरिए देख सकते हैं। फेसबुक ने ये भी कहा है कि आने वाले समय में ये फेसबुक शॉप मैसेंजर और वाट्सऐप पर भी उपलब्ध होंगी।
  • लोग फेसबुक शॉप किसी बिजनस के फेसबुक पेज या इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर जाकर देख सकते हैं या फिर स्टोरी और विज्ञापन के जरिए भी उन्हें फेसबुक शॉप दिख सकती हैं।
  • अगर किसी ग्राहक को किसी प्रोडक्ट के बारे में कुछ पूछना होगा तो वह सीधे मैसेंजर या वाट्सऐप के जरिए मैसेज कर के बात कर सकता है। अपने ऑर्डर को ट्रैक कर सकता है, मदद ले सकता है।

प्राइवेसी समस्या

  • फेसबुक ने कहा है कि वह फेसबुक शॉप पर लोगों की एक्टिविटी का डेटा इस्तेमाल करेगा और उसके आधार पर ही विज्ञापन या सजेशन दिखाएगा। हालांकि, फेसबुक ये भी कहता है कि फेसबुक शॉप की एक्टिविटी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तब तक शेयर नहीं की जाएगी, जब तक यूजर खुद इसे शेयर ना करना चाहे।

7. इजराइली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू अदालत में होंगे पेश

  • लंबे राजनीतिक गतिरोध के बाद हाल में पद संभालने वाले इज़राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ को भ्रष्टाचार के मुकदमे की सुनवाई शुरू हो रही है। नेतन्याहू का यरुशलम की अदालत में शुरुआती सुनवाई के दौरान मौजूद रहना तय है।
  • उन पर धोखाधड़ी, विश्वास भंग और घूस लेने के तीन अलग-अलग मामले हैं जिसमें जालसाली और विश्वास तोड़ने, धोखाधड़ी और विश्वासभंग करना तथा घूस, जालसाजी और विश्वास तोड़ना शामिल है।

पिछले सप्ताह ही बनी थी स्थाई सरकार

  • गतिरोध और बिना किसी स्पष्ट नतीजे के तीन बार हुए चुनावों और डेढ़ साल तक कार्यवाहक सरकार रहने के बाद प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की सरकार ने अंतत: शपथ ले ली है। शपथ से पहले भी हालांकि तीन दिनों तक मंत्री पद को लेकर उनकी लिकुड पार्टी के अंदर काफी खींचतान चलती रही थी।
  • इजरायल में हुए आम चुनावों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था जिसके बाद नेतन्याहू ने प्रमुख विपक्षी दल ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के चीफ बेनी गांट्ज के साथ गठबंधन किया है।
  • गठबंधन की शर्तों के अनुसार, पहले 18 महीने नेतन्याहू प्रधानमंत्री और बेनी गांट्ज रक्षा मंत्री बनेंगे। इसके बाद गांट्ज प्रधानमंत्री बनेंगे और नेतन्याहू रक्षा मंत्री। इसमें यह भी शर्त है कि नेतन्याहू कार्यकाल खत्म करने के बाद ब्लू एंड व्हाइट पार्टी के साथ गठबंधन तोड़कर चुनाव नहीं करा सकते हैं।
  • ना ही दोनों नेता किसी और दल का साथ लेकर सत्ता में बने रह सकते हैं। इसके अलावा बेंजामिन नेतन्याहू पर चल रहे भ्रष्टाचार के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही गांट्ज कोई एक्शन ले सकते हैं।

8. पूर्व हॉकी दिग्गज बलबीर सिंह सीनियर का निधन

  • पद्मश्री से सम्मानित और तीन बार की ओलंपिक स्वर्ण विजेता रही भारतीय हॉकी टीम के पूर्व सदस्य और महान खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का लंबी बीमारी के बाद 95 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। भारत के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में शामिल बलबीर सिंह सीनियर लंबे समय से बीमार चल रहे थे।
  • बलबीर सिंह सीनियर 1948 के लंदन ओलंपिक, 1952 के हेलसिंकी ओलंपिक और 1956 के मेलबर्न ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम के सदस्य थे। मेलबर्न ओलंपिक में बलबीर सिंह सीनियर ने भारतीय हॉकी टीम का नेतृत्व किया था।
  • देश के महानतम एथलीटों में से एक बलबीर सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में शामिल थे। उन्हें 1957 में पद्मश्री से नवाजा गया था और यह सम्मान पाने वाले वह पहले खिलाड़ी थे।

9. ज्योति कुमारी का राष्ट्रीय साइक्लिंग अकादमी में प्रशिक्षु के लिए ट्रायल

केन्द्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा है कि वे भारतीय खेल प्राधिकरण और भारतीय साइक्लिंग परिसंघ से ज्योति कुमारी का ट्रायल करने को कहेंगे जो लॉकडाउन के दौरान अपने पिता को साइकल पर पीछे बिठाकर गुरूग्राम से दरभंगा आई है।

  • रिजिजू ने आगे कहा कि यदि ज्योति में साइक्लिंग स्पर्धा के अनुरूप क्षमता पाई गई तो उसे इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में राष्ट्रीय साइक्लिंग अकादमी में प्रशिक्षु के तौर पर चुना जाएगा।
  • दरभंगा की 15 साल की ज्योति जनवरी में अपने बीमार पिता की सेवा के लिए गुड़गांव गई थी। इसी बीच मार्च में लॉकडाउन हो गया और वह गुड़गांव में ही फंस गई।
  • पिता और बेटी के समक्ष भूखों मरने की नौबत आ गई थी। इसी बीच प्रधानमंत्री राहत कोष से एक हजार रुपये खाते में आए। ज्येाति ने कुछ और पैसे मिलाकर पुरानी साइकिल खरीदी और पिता को उस पर बिठाकर गांव लाने की ठानी। पिता पहले नहीं माने पर बेटी के हौसेले के आगे हां कर दी।

साईकिल से सात दिन में 1200 किलोमीटर दूरी तय की

  • ज्योति बिहार के दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहूल्ली गांव में रहती हैं। 15 साल की ज्योति बीमार पिता को साइकिल पर बैठाकर 10 मई को दिल्ली से चलीं 16 मई को दरभंगा पहुंचीं।
  • उन्होंने सात दिन में 1200 किलोमीटर दूरी तय की है। ज्योति के बारे जानकार अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ने उन्हें ट्विटर पर सराहा था।
  • इन्हें साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने अगले महीने ट्रायल के लिए भी बुलाया है। साइकिलिंग फेडरेशन के चेयरमैन ओंकार सिंह ने उसे शाबाशी के साथ आशीर्वाद भी दिया।

10. भारतीय खेल प्राधिकरण ने 2749 खेलो इंडिया एथलीटों को 30-30 हजार रुपये जारी किए

भारतीय खेल प्राधिकरण ने दो हजार 749 एथलीटों के खातों में 30-30 हजार रुपए के हिसाब से सवा आठ करोड़ रुपए की राशि  नकद भत्ते के तौर पर जमा कराई है।

  • प्राधिकरण ने कहा है कि इस महीने के अंत तक 144 अन्य एथलीटों के खातों में भी भत्ते जमा कराए जाएंगे। इसके साथ ही प्राधिकरण से अनुग्रह भत्ता पाने वाले खेलो इंडिया एथलीटों की कुल संख्या 2893 हो जाएगी।
  • यह भत्ता 2020-21 की पहली तिमाही के लिए है। इसका लाभ 35 राज्यों/केन्द्रशासित के एथलीटों को दिया जा रहा है, जो 21 प्रकार के खेलों से जुड़े हैं। इनमें सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब और तमिलनाडु के एथलीटों की है।
  • युवा कार्य और खेलमंत्री किरेन रिजिजू ने कहा है कि सरकार हर समय एथलीटों को पूरा सहयोग देगी। प्रतिवर्ष भत्ते के तौर एक लाख 20 हजार रुपए दिए जाते हैं, जो इस योजना के अंतर्गत चयनित नवोदित एथलीटों के लिए छह लाख 28 हजार रुपए की खेलो इंडिया स्कॉलरशिप का हिस्सा है।

 

DSGuruJi - PDF Books Notes