Advertisements

कंप्यूटर : परिचय

1. परिचय

एक कंप्यूटर एक युक्ति है जो डेटा को रिसीव, प्रोसेस व स्टोर कर सकती है। कई लोगों का मानना है कि एक कंप्यूटर का उपयोग कैसे किया जाता है, यह जानना कार्यस्थल में सफल होने के लिए आवश्यक बुनियादी कौशल में से एक है। कंप्यूटर का उपयोग समझने के लिए कंप्यूटर कैसे काम करता है, यह जानना आवश्यक है।

कंप्यूटर तेजी से बदल रहा है और हम जिस दुनिया में रहते हैं वह भी बदल रही हैं। हालांकि, सभी कंप्यूटरों में कई भाग समान होते है:

  • इनपुट डिवाइस जो डेटा को कंप्यूटर में दर्ज करती है (माउस, कीबोर्ड आदि)

  • कमांड और डेटा भंडारण का एक साधन (मेमोरी)

  • एक सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट जो प्रोसेसिंग पर नियंत्रण रखती है (सीपीयू)

  • प्रोसेस हो चुकी जानकारी आउटपुट के रुप में प्रदर्शित करने का एक साधन (मॉनिटर)

सामान्य तौर पर, एक कंप्यूटर एक मशीन है, जो सूचना को स्वीकार करता है, प्रोसेस करता है और आउटपुट के रूप में नई जानकारी देता है।

2. कंप्यूटर के प्रकार

a. डेस्क टॉप कंप्यूटर

डेस्कटॉप कंप्यूटर एक डेस्क या मेज पर उपयोग के लिए डिजाइन किए गए हैं। वे आम तौर पर बड़े और पर्सनल कंप्यूटर के अन्य प्रकार की तुलना में अधिक शक्तिशाली होते हैं। डेस्कटॉप कंप्यूटर अलग-अलग घटकों से बने हुए होते हैं। मुख्य घटक, जिसे सिस्टम यूनिट कहा जाता है, आम तौर पर एक आयताकार बॉक्स है जो एक मेज के नीचे रखा हुआ होता है। अन्य घटकों में मॉनीटर, माउस, कीबोर्ड आदि होते हैं जो सिस्टम यूनिट से जुडे हुए होते हैं।

b. लैपटॉप

लैपटॉप एक पतली स्क्रीन का हल्का पीसी हैं। लैपटॉप बैटरी पर भी काम कर सकते हैं, अत: आप उन्हें कहीं भी ले जा सकते हैं। डेस्कटॉप के विपरीत, लैपटॉप में एक ही इकाई में सीपीयू, स्क्रीन, और की-बोर्ड अंतर्निहित होते हैं।

c. हैंडहेल्ड कंप्यूटर (पीडीए)

हैंडहेल्ड कंप्यूटर, जिन्हें व्यक्तिगत डिजिटल सहायक (personal digital assistants) भी कहा जाता है, काफी छोटा तथा लगभग कहीं भी ले जाने योग्य बैटरी चालित कंप्यूटर हैं। हालांकि डेस्कटॉप या लैपटॉप की तुलना में यह कम शक्तिशाली है। इसका उपयोग एड्रेस और फोन नंबर नोट करने, और गेम खेलने के लिए करते हैं। इस तरह के कुछ कंप्यूटर टेलीफोन कॉल करने या इंटरनेट एक्सेस करने के लिये भी उपयोग में लिये जाते है। इसमें कीबोर्ड की बजाय टच स्क्रीन होती है जिसे आप अपनी उंगली या एक स्टाइलस (एक पेन के आकार का उपकरण) के साथ प्रयोग कर सकते है।

3. पेरिफेरल डिवाइसेज

पेरिफेरल डिवाइसेज कई हैं, लेकिन वे तीन सामान्य श्रेणियों में आते हैं:

4. पेरिफेरल डिवाइसेज के प्रकार

1. इनपुट डिवाइस : जैसे माउस और कीबोर्ड

2. आउटपुट डिवाइस : जैसे मॉनिटर और प्रिंटर

3. स्टोरेज डिवाइस : जैसे हार्ड ड्राइव या फ्लैश ड्राइव

पेरिफेरल डिवाइसेज बाहरी या आंतरिक हो सकती है। उदाहरण के लिए, एक प्रिंटर एक बाहरी पेरिफेरल डिवाइस है जिसे आप एक केबल का उपयोग कर कनेक्ट करते हैं जबकि एक ऑप्टिकल डिस्क ड्राइव आम तौर पर कंप्यूटर के अंदर स्थित पेरिफेरल डिवाइस है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!