भरतपुर जिला {Bharatpur District} राजस्थान GK अध्ययन नोट्स

1. महत्वपूर्ण तथ्य

  • भरतपुर जिले का कुल क्षेत्रफल = 5,066 किमी²
  • भरतपुर जिले की जनसंख्या (2011) = 25,49,121
  • भरतपुर जिले का संभागीय मुख्यालय = भरतपुर

2. भौगोलिक स्थिति

  • भौगोलिक स्थिति: 27.22°N 77.48°E
  • भरतपुर राजस्थान का एक प्रमुख शहर होने के साथ-साथ देश का सबसे प्रसिद्ध पक्षी उद्यान भी है।
  • यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का हिस्सा भी है

3. इतिहास

  • भरतपुर की स्थापना जाट शासक राजा सूरजमल ने की थी और यह जाटों का गढ़ कहलाता है।
  • भरतपुर का नामकरण राम के भाई भरत के नाम पर किया गया है। लक्ष्मण इस राज परिवार के कुलदेव माने गये हैं।
  • भरतपुर शहर की स्थापना ‘ठाकुर चूड़ामन सिंह’ जाट ने की थी, लेकिन बाद में शासक राजा सूरजमल ने इसे सजाया और सँवारा।

4. कला एवं संस्कृति

  • भरतपुर में होली एक प्रमुख पर्व है एवं यहाँ अंतराष्ट्रीय स्तर का दो दिवसीय ब्रज होली महोत्सव प्रतिवर्ष आयोजित होता है
  • यहाँ की भाषा में ब्रज भाषा की छाप है
  • भरतपुर में सभी पर्व हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाये जाते हैं ।

5. शिक्षा

  • यहाँ राजस्थान विश्वविद्यालय से संलग्न अनैक महाविद्यालय हैं
  • प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा हेतु सरकारी एवं निजी क्षेत्र की कई अच्छी स्कूल हैं
  • भरतपुर में तकनिकी शिक्षा के लिए एक सरकारी इंजीनियरिंग एवं डिप्लोमा कॉलेज है

6. खनिज एवं कृषि

  • भरतपुर उत्तर और दक्षिण में विलग पहाड़ी क्षेत्र में एक विस्तृत जलोढ़ मैदान में स्थित है।
  • बाजरा, चना, जौ, गेंहूँ और तिलहन यहाँ की प्रमुख फ़सलें हैं।

7. प्रमुख स्थल

  • भरतपुर राष्ट्रीय उद्यान एशिया में पक्षियों के, समूह प्रजातियों वाला सर्वश्रेष्ठ उद्यान है, के लिए प्रसिद्ध है। भरतपुर की गर्म जलवायु में सर्दियां बिताने प्रत्येक वर्ष साइबेरिया के दुर्लभ सारस यहाँ आते है।
  • भरतपुर राष्ट्रीय उद्यान केवलादेव घना के नाम से भी जाना जाता है। केवलादेव नाम भगवान शिव को समर्पित मंदिर से लिए गया है जो इस उद्यान के बीच में स्थित है।
  • लोहागढ़ किला एक अभेध्य किला है जिसे महाराजा सूरजमल ने बनाया जिसके दोनो तरफ मजबूत दरवाजे जिनमे नुकीले लोहे की सलाखे लगायी गयी एवं खाई के साथ मोटी दीवार है
  • डीग का किले का निर्माण राजा सूरजमल ने कुछ ऊंचाई पर करवाया था। किले का मुख्य आकर्षण है यहां की वॉच टावर, जहां से न केवल पूरे महल को देखा जा सकता है बल्कि नीचे शहरा का नजारा भी लिया जा सकता है

8. नदी एवं झीलें

  • नदी : चम्बल, बाणगंगा, पार्वती एवं गम्भीरी
  • झीलें: पोखर एवं केवलादेव नेशनल पार्क

9. परिवहन और यातायात

  • भरतपुर रेलवे के जरिए दिल्ली एवं जयपुर से जुड़ा है।
  • भरतपुर बसों के जरिए दिल्ली, आगरा और जयपुर से जुड़ा हुआ है।
  • निकटतम हवाई अड्डा आगरा, दिल्ली एवं जयपुर, है ।

10. उद्योग और व्यापार

  • भरतपुर के प्रमुख उद्योगों में तेल-मिलें, धातु निर्माण कारख़ाने, रेलवे कार्यशालाएँ और मोटरगाड़ी बनाने के कारख़ाने शामिल हैं।
  • भरतपुर के हाथीदाँत, चाँदी या चन्दन की लकड़ी के हत्थे वाले हाथ से बने चंवर प्रसिद्ध हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!