REET EXAM 2020 Notification के सम्बंध में अशोक गहलोत ने दिए निर्देश 31000 पद

राजस्थान सरकार मुख्यमंत्री जनसम्पर्क प्रकोष्ठ शिक्षकों की भर्ती को लेकर मुख्यमंत्री के अहम निर्णय। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को समय से सरकारी शिक्षक भर्ती का लाभ देने के साथ ही उन्हें विभिन्न नई भर्तियों के माध्यम से उचित अवसर प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय में मंगलवार को शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में श्री गहलोत ने कहा कि सरकार की मंशा है कि शिक्षकों के रिक्त पदों को शीघ्र भरा जाए।

सितम्बर माह में नई व्याख्याता भर्ती परीक्षा

बैठक में तय किया गया कि विगत 2 वर्षों से अध्ययनरत लाखों अभ्यर्थियों के हितों के मद्देनजर तथा जुलाई 2020 से प्रारम्भ होने वाले नए शैक्षिणिक सत्र में रिक्त पदों पर व्याख्याता उपलब्ध हो सकें इसके लिए वर्तमान में चल रही पांच हजार पदों की व्याख्याता भर्ती परीक्षा-2018 का आयोजन नियत तिथि पर ही किया जाए। यह भी निर्णय किया गया कि आगामी सितम्बर माह में नवीन व्याख्याता भर्ती परीक्षा आयोजित करने के लिए शीघ्र प्रक्रिया प्रारम्भ की जाए, इससे वर्तमान सत्र में अध्ययनरत छात्र भी नई भर्ती के लिए पात्र हो पाएंगे। इसके लिए राजस्थान लोक सेवा आयोग से चर्चा करने पर आयोग ने माह सितम्बर 2020 में इस परीक्षा के लिए अपनी सहमति प्रदान दी है।
अगस्त में होगी 31 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिए रीट परीक्षा

यह भी तय किया गया कि तृतीय श्रेणी अध्यापकों के 31 हजार पदों को भरने के लिए 2 अगस्त 2020 को आगामी रीट परीक्षा आयोजित की जाए। इससे बेरोजगार आशार्थियों को रोजगार के पर्याप्त अवसर मिलेगे। जनजाति उपयोजना क्षेत्र (टीएसपी) के अभ्यर्थियों की मांग को दृष्टिगत रखते हुए इनमें से 6,080 पद टीएसपी क्षेत्र के अभ्यर्थियों के लिए आरक्षित रहंेगे।

लेवल- टू की भर्ती के लिए राजस्थान की जानकारी हो

बैठक में यह भी निर्णय किया गया कि पहली बार तृतीय श्रेणी लेवल-2 की भर्ती में विषय विशेषज्ञों के चयन के लिए विषय की गहन जानकारी होनी चाहिए। चूंकि तृतीय श्रेणी अध्यापक को प्रदेश के दूर-दराज क्षेत्र में अध्यापन करना होता हैं। अतः उन्हें राजस्थान के बारे में स्वाभाविक रूप से जानकारी होना आवश्यक है। इसके लिए प्रश्न पत्र की विषयवस्तु इस प्रकार तैयार की जाए कि अभ्यर्थियों को राजस्थान के बारे में जानकारी हो।

बैठक में शिक्षा राज्य मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा, शिक्षा सचिव श्रीमती मंजू राजपाल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!
/* ]]> */