सरकार ने ई-धरती ऐप और ई-धरती जियोपोर्टल लॉन्च किया

केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप पुरी ने अपनी संपत्तियों को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए सरकार को उंगलियों पर आवश्यक जानकारी प्राप्त करने में जनता की मदद करने के लिए ई-धरती ऐप और ई-धरती जियोपोर्टल लॉन्च किया।

ई-धरती ऐप

  • ई-धरती ऐप के तहत, सभी तीन मॉड्यूल- रूपांतरण, प्रतिस्थापन और गुणों से संबंधित उत्परिवर्तन ऑनलाइन किए गए हैं।
  • भूमि और विकास कार्यालय, एल एंड डीओ में भुगतान प्रणाली को भी पूरी तरह से डिजिटल कर दिया गया है।
  • यह L & DO वेबसाइट पर जाकर जनता को अपने आवेदन ऑनलाइन जमा करने में सक्षम बनाता है। यह उन्हें प्रस्तुत करने और उनके आवेदनों के पालन के लिए कार्यालय का दौरा करने की आवश्यकता को पूरा नहीं करता है।

ई-धरती जियोपोर्टल

  • ई-धरती जियोपोर्टल संपत्ति के पट्टेदार को अपना स्थान दिखाने वाले नक्शे के साथ संपत्ति के मूल विवरण को देखने में सक्षम बनाता है।
  • पट्टेदार को इस कार्यालय से प्रॉपर्टी कार्ड भी जारी किया जा सकता है यदि वह इसके लिए कहता है।
  • ई-धरती जियोपोर्टल भी सरकार को अपने खाली संपत्तियों की वास्तविक स्थिति के बारे में बताने से लाभान्वित होगा, चाहे संपत्ति पर कोई अतिक्रमण हो।

सरकार अन्य तीन मॉड्यूल- बिक्री अनुमति, बंधक अनुमति और उपहार अनुमति को डिजिटल बनाने और एकीकृत करने की प्रक्रिया में है। एक बार जब यह डिजिटलीकरण और एकीकरण पूरा हो जाता है, तो यह अधिक सार्वजनिक अनुकूल, कुशल, जवाबदेह और पारदर्शी बनाकर संपत्ति संबंधी मामलों के काम को सुव्यवस्थित करने में एक लंबा रास्ता तय करेगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!