Advertisements

समतल दर्पण को जमीन पर रखकर उसके लम्बवत पेन खड़ा करके देखने पर प्रतिबिम्ब उल्टा दिखाई देता है या जब हम समतल दर्पण में स्वयं का प्रतिबिम्ब देखते है तो प्रतिबिम्ब में दांया भाग बायीं ओर तथा बांया भाग दांयी ओर क्यों हो जाता है?

समतल दर्पण के समान्तर रखी किसी आकृति का दांया भाग बांया और बांया भाग दांया दिखाई देने का मुख्य कारण पार्श्व परावर्तन है। जब हम स्वयं दर्पण के सामने अर्थात समान्तर खड़े होते है तो पार्श्व परावर्तन के कारण दांया भाग बाँई ओर तथा बांया भाग दांई ओर दिखाई देता है। इसी तरह दर्पण को जमीन पर रखकर उसके लम्बवत पेन खड़ा करने पर भी दर्पण में उल्टा प्रतिबिम्ब भी पार्श्व परावर्तन के कारण ही बनता है।

error: Content is protected !!