विद्युत परिपथ में मीटर के बाद फ्यूज क्यों लगाया जाता है?

फ्यूज एक पतला तार होता है जो अल्प गलनांक एवं कम प्रतिरोध वाले मिश्र धातु का बना होता है। इसकी चालकता भी उच्च होती है यह टिन और सीसे की मिश्र धातु का बना होता है। असाधारण परिस्थितियों में परिपथ का प्रतिरोध बहुत कम हो जाता है| कम प्रतिरोध में उच्च धारा प्रवाह के कारण फ्यूज तार गरम होने से पिघल कर टूट जाता है तथा परिपथ का विच्छेदन हो जाता है इससे आग लगने या दुर्घटना होने की सम्भावना समाप्त हो जाती है।

error: Content is protected !!