राजस्थान में कृषि {Agriculture in Rajasthan} राजस्थान GK अध्ययन नोट्स

  • राजस्थान मुख्यत: एक कृषि व पशुपालन प्रधान राज्य है और अनाज व सब्जियों का निर्यात करता है।
  • राज्य की मुख्य फ़सलें हैं- चावल, जौ, ज्वार, बाजरा, मक्का, चना, गेहूँ, तिलहन, दालें कपास और तंबाकू।
  • इसके अलावा पिछले कुछ वर्षो में सब्जियों और संतरा तथा माल्टा जैसे नीबू प्रजाति के फलों के उत्पादन में काफ़ी वृद्धि हुई है।
  • यहाँ की अन्य फ़सलें है लाल मिर्च, सरसों, मेथी, ज़ीरा, और हींग।
  • अत्यधिक शुष्क भूमि के कारण राजस्थान को बड़े पैमाने पर सिंचाई की आवश्यकता है। जल की आपूर्ति पंजाब की नदियों, पश्चिमी यमुना (हरियाणा) और आगरा नहर (उत्तर प्रदेश) तथा दक्षिण में साबरमती व ‘नर्मदा सागर परियोजना’ से होती है।
  • ‘राजस्थान भांखड़ा परियोजना’ में पंजाब और ‘चंबल घाटी परियोजना’ में मध्य प्रदेश का साझेदार राज्य है। दोनों परियोजनाओं से प्राप्त जल का उपयोग सिंचाई व पेयजल आपूर्ति के लिए किया जाता है।
  • राजस्थान में खरीफ की प्रमुख फसलें: बाजरा, ज्वार, मूंगफली, कपास, मक्का, गन्ना, सोयाबीन, मूंग, मोठ, चांवल आदि।
  • राजस्थान में रबी की प्रमुख फसलें: गेहूं जौ, चना, सरसो, मसूर, मटर, अलसी, तारामिरा, सूरजमुखी।
  • राजस्थान में जायद की प्रमुख फसलें: खरबूजे, तरबूज ककडी
error: Content is protected !!