मध्य प्रदेश के आदिवासी क्षेत्र में टेथाइरिज्म रोम (पक्षाघात) अधिक पाया जाता है, क्यों?

मध्य प्रदेश के निर्धन आदिवासी लोग खेसारी दाल का निरंतर प्रयोग करते हैं।इस दाल में एक प्रकार का तन्त्रिका विष पाया जाता है जो तन्त्रिका तन्त्र को प्रभावित करता है तथा पक्षाघात रोग हो जाता है।

error: Content is protected !!