पानी में रखी पेन्सिल मुड़ी हुई दिखाई क्यों देती है?

पानी में कोई सीधी छड़ी तिरछी डाली जाए तो उसके डूबे हुए भाग का प्रत्येक बिंदु अपवर्तन के कारण अपनी वास्तविक स्थिति के ऊपर उठा हुआ दिखाई देता है| जिससे पेंसिल मुड़ी हुई प्रतीत होती है| जब प्रकाश सघन माध्यम से विरल माध्यम में प्रवेश करता है तो अपवर्तित किरण आपतित किरण की अपेक्षा अभिलंब से दूर हटती है| इसी कारण पानी में तिरछी रखी हुई पेंसिल मुड़ी हुई दिखाई देती है |

error: Content is protected !!