General Science

नाटकों में नकली वर्षा या कृत्रिम वर्षा कैसे होती है?

विभिन्न स्थानों पर इच्छानुसार नकली वर्षा करने के लिये सिल्वर आयोडाइड  या ड्राई आइस का प्रयोग करते है। कोयला की आग में सिल्वर आयोडाइड छिड़कने से धुंए के बादल बन जाते हैं जिन्हें उड़ाकर कृत्रिम वर्षा की जाती है। इसके लिए किसी मौसम का इंतज़ार नहीं करना पड़ता है।

READ  सिरका व खाने के सोडे के घोल के पास यदि जलती हुई माचिस की तिली ले जाते हैं तो वह क्यों बुझ जाती है?
DSGuruJi - PDF Books Notes

Leave a Comment