टेलीफोन कैसे कार्य करता है?

एक टेलीफोन के दो मुख्य भाग होते हैं, माउथ पीस और इयर  पीस होते हैं| जब हम बोलते हैं तो माउथ पीस में लगा हुआ डायफ्राम कम्पन करने लगता है और इसके कारण बदलती हुई विद्युत् धारा पैदा हो जाती है| यह विद्युत् धारा टेलीफोन के तारों द्वारा होती हुई दुसरे स्थान पर लगे टेलीफोन के रिसीवर तक पहुँचती है यही विद्युत् धारा रिसिवर में लगे डायफ्राम द्वारा ध्वनि में बदल दी जाती है| इसी प्रकार टेलीफोन के माध्यम से बातचीत की जाती है|

error: Content is protected !!
/* ]]> */