ग्रह क्या है?

प्राचीनकाल के आकाश का निरीक्षण करने वाले या खगोल विज्ञानियों ने यह देखा कि जो तारे नही टिमटिमाते,वे आकाश में भ्रमण करते हैं|उन्होंने इन तारो को घुमक्कड़ या ग्रह कहा|उन्होंने अपने देवताओं के नाम पर इनका नाम रखा|ग्रह नही टिमटिमाते क्योकि उनका समतल बिम्ब अधिक मात्रा में सूर्य के प्रकाश को प्रतिबिंबित कर देता है|वे निरंतर चमकते है|हम किसी भी ग्रह की सतह या बाहरी हिस्से को दूरबीन द्वारा देख सकते है

error: Content is protected !!