General Science

क्या कारण है कि चूने के पानी से भरी टेस्ट ट्यूब में फूँक मारने पर वह दुधिया रंग का हो जाता है किन्तु और फूँके मारने पर यह दुधिया रंग समाप्त हो जाता है?

चूने के पानी से भरी टेस्ट ट्यूब में फूँक मारने से चूने के पानी का रंग दुधिया हो जाता है क्योंकि फूँक के साथ निकली कार्बनडाई आक्साइड गैस चूने के पानी के साथ क्रिया करके यह अविलेय केल्सियम कार्बोनेट बनाती है। इसी केल्सियम कार्बोनेट के कारण चूने के पानी जा रंग दुधिया हो जाता है। परन्तु अधिक मात्रा में CO2 गैस प्रवाहित करने पर यह जल में विलेयशील होकर केल्सियम बाई कार्बोनेट बनाता है तथा दुधिया रंग समाप्त हो जाता है।

READ  वर्षा के मौसम में चमड़े के बने जूतों पर फफूँद क्यों लगती है?
DSGuruJi - PDF Books Notes

Leave a Comment