अक्रिय गैस Inert gas

हीलियम (He), निऑन (Ne), ऑर्गन (Ar), क्रिप्टान (Kr) जेनान (Xe) तथा रेडॉन (Rn) आवर्त सारणी केशून्य वर्गके तत्व हैं। शून्य वर्ग के तत्व रासायनिक दृष्टि से निष्क्रिय होते हैं। इस कारण इन तत्वों कोअक्रिय गैस (Inert gas)याउत्कृष्ट गैस (Noble Gases)कहा जाता है। रेडॉन (Rn) को छोड़कर अन्य सभी अक्रिय गैसें वायुमंडल में पायी जाती हैं। अक्रिय गैसों की खोज का श्रेयलोकेयर,रैमजे,रैलेआदि को जाता है। अक्रिय गैसों की प्राप्ति दुर्लभ होने के कारण उन्हेंदुर्लभ गैसभी कहा जाता है।

हीलियम (Helium):हीलियम एक हल्की और अज्वलनशील गैस है। यह ब्रह्मांड में दूसरा सर्वाधिक पाया जाने वाला तत्व है। इसकी खोजफ्रैंकलैण्डऔरलोकेयरने की। हीलियम का उपयोग वायुयान के टायरों में भरने में किया जाता है। हल्की गैस होने के कारण हीलियम वायुयान को ऊपर उठाता है। मौसम संबंधी जानकारी प्राप्त करने के लिए बैलून में हीलियम गैस भरकर उसे छोड़ा जाता है। हीलियम और ऑक्सीजन का मिश्रण गहरे समुद्रों में गोताखोरों द्वारा वायु के स्थान पर प्रयोग किया जाता है, क्योंकि अधिक दाब पर हीलियम नाइट्रोजन की अपेक्षा रक्त में कम विलेय होता है। अस्पतालों में दमा के रोगों को कृत्रिम सांस के रूप में हीलियम और ऑक्सीजन गैस का मिश्रण दिया जाता है। द्रव हीलियम का उपयोग निम्न ताप पर प्रयोगों में निम्न तापीय अभिकर्मक के रूप में किया जाता है।

नियॉन (Neon):नियॉन का उपयोग स्फुरदीप्ति बल्बों में तथा चमकने वाले विज्ञापनों में किया जाता है। नियॉन लैम्प का प्रयोग हवाई अड्डों पर विमान चालकों को संकेत देने के लिए किया जाता है, क्योंकि यह प्रकाश कोहरे में अधिक चमकता है। नियॉन विसर्जन लैम्पों व ट्यूबों तथा प्रतिदीप्ति बल्बों में भरी जाती है, जिनको विज्ञापनों के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

आर्गन (Argon):आर्गन (Ar) प्रकृति में वायुमंडल में सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला अक्रिय गैस है। इसकी खोजरैमजे (Ramsay)ने की है। आर्गन का उपयोग विद्युत् बल्बों में भरने में किया जाता है, क्योंकि इसकी उपस्थिति में विद्युत् बल्ब का तन्तु (Filament) ज्यादा समय तक सुरक्षित रहता है। आर्गन (Ar) का उपयोग उच्च तापीय धातुकर्मिक प्रक्रियाओं धातुओं अथवा मिश्रधातुओं की आर्क वेल्डिग में निष्क्रिय वातावरण उत्पन्न करने में भी किया जाता है।

जेनॉन (Xenon) :सर्वाधिक यौगिक बनाने वाला अक्रिय गैस जेनॉन है।

रेडॉन (Redon) : रेडॉन एक रेडियोसक्रिय तत्व है। इसका उपयोग रेडियोथेरेपी (Radiotheraphy) के रूप में कैन्सर रोग के इलाज में होता है।

DsGuruJi HomepageClick Here

Leave a Comment